बिलिंग में लापरवाही पर 2500 से ज्यादा मीटर रीडर्स नपे

शीतकालीन सत्र में ऊर्जा मंत्री ने विद्युत व्यवस्था पर गिनाईं उपलब्धियां

बिलिंग में लापरवाही पर 2500 से ज्यादा मीटर रीडर्स नपे

  • बोले, पहले महीनों नहीं बदले जाते थे ट्रांसफॉर्मर अब घंटों में बदले जा रहे
  • अप्रैल 2023 से अक्टूबर 2023 तक 1 लाख 89 हजार 803 ट्रांसफॉर्मर बदले
लखनऊ। प्रदेश के ऊर्जा एवं नगर विकास मंत्री एके शर्मा ने विधानसभा के शीतकालीन सत्र में विपक्ष के सवालों का जवाब देते हुए बुधवार को कहा कि गलत बिलिंग से लेकर खराब ट्रांसफॉर्मर बदलने, जर्जर विद्युत तारों को रिप्लेस करने संबंधी कार्य तेजी से किये जा रहे। इस दौरान उन्होंने विपक्ष पर निशाना भी साधा और कहा कि 2017 से पहले जहां महीनों में भी ट्रांसफॉर्मर नहीं बदले जाते थे, वहीं अब घंटों में ट्रांसफॉर्मर बदल दिए जाते हैं।

मीटर रीडर द्वारा गलत बिलिंग को लेकर पूछे गए एक प्रश्न पर ऊर्जा एवं नगर विकास मंत्री एके शर्मा ने कहा कि अगर किसी उपभोक्ता का बिल गलत आ रहा है तो हमने कई प्लेटफॉर्म उपलब्ध कराए गए हैं, जहां वो अपनी शिकायत कर सकते हैं। वो बिलिंग काउंटर पर जाकर अपना बिल सुधार करवा सकता है, ऑनलाइन और एप के जरिए भी बिल सुधार की व्यवस्था है। इस पूरे दुष्चक्र से निकलने के लिए अभी कुछ दिन पहले ही हमने ट्रस्ट बिलिंग या सेल्फ बिलिंग की भी शुरूआत की है। इसका मतलब ये है कि हमारे विभाग की वेबसाइट या ऐप पर जाकर कोई उपभोक्ता अपना कनेक्शन नंबर डालकर अपने मीटर की रीडिंग डालता है तो उसका बिल उसके मोबाइल नंबर पर एसएमएस के माध्यम से प्राप्त हो जाएगा।
 
बताया कि इस समय प्रदेश में एकमुश्त समाधान योजना (ओटीएस) चल रही है। इसमें हमने छोटे घरेलू उपभोक्ताओं और किसानों को सरचार्ज पर 100 प्रतिशत तक की छूट दी है। मंगलवार शाम तक इस योजना के तहत 14 लाख लोगों ने योजना का लाभ लिया है। कहा कि जहां तक मीटर रीडर द्वारा गलत बिल बनाने की शिकायत है तो अब तक 2508 मीटर रीडरों की सेवाएं समाप्त कर दी हैं। आगे कहा कि प्रदेश में मजरों के विद्युतीकरण को लेकर पूछे गए एक सवाल पर ऊर्जा मंत्री ने कहा कि 22339 मजरे विद्युतीकरण से बाकी हैं। कुछ में आंशिक विद्युतीकरण हुआ है, कुछ पूर्ण रूप से बाकी हैं। 2017 से पहले लगभग 1.5 लाख मजरे ऐसे बाकी थे, जिसमें से 1.21 लाख मजरों का विद्युतीकरण इस सरकार ने किया है। जो 22339 मजरे बाकी हैं, उन पर हमारा पूरा ध्यान है।

एक बिल पर सात बार भेजा जा रहा एसएमएस...!
 
बकाया होने पर बिजली काटने के मुद्दे पर पूछे गए सवाल पर ऊर्जा मंत्री ने कहा कि हमने इस समय सिर्फ विद्युत बकाये के कारण बिजली काटने से मना किया गया है। बिल जमा करने के लिए हमने कई अभियान चलाए हैं। ऐसा ही एक अभियान है, फोन घुमाओ अभियान। फोन पर हम कई बार उपभोक्ताओं को उनके बकाये बिल की जानकारी देते रहते हैं। यही नहीं, टेक्नोलॉजी आधारित नई स्कीम के तहत हम एक बिल पर सात बार एसएमएस भेज रहे हैं। इन प्रयासों का ही परिणाम है कि बिजली काटने की समस्या कम हुई है।
Tags: lucknow

About The Author

Latest News

रिम्स में राज्य का पहला सर्जिकल स्किल और वेट लैब स्थापित रिम्स में राज्य का पहला सर्जिकल स्किल और वेट लैब स्थापित
रांची। रिम्स के क्षेत्रीय नेत्र संस्थान में राज्य का पहला सर्जिकल स्किल एवं वेट लैब स्थापित किया गया है। रिम्स...
मुख्यमंत्री चम्पाई सोरेन चार मार्च को जाएंगे गिरिडीह
मतदान के प्रति जागरूक करना हमारी नैतिक जिम्मेवारी: निदेशक
सीआईडी ने दो साइबर अपराधी को किया गिरफ्तार
जबलपुर इंजीनियरिंग कालेज को "टेक्नोलॉजी हब" बनाने की दिशा में हो क्रियान्वयन: मंत्री परमार
मंत्री कृष्णा गौर ने की गुफा मंदिर में महाशिवरात्रि आयोजन की तैयारियों की समीक्षा
अपने लोगों पर गर्व करने की परंपरा करनी होगी विकसित: उच्च शिक्षा मंत्री परमार