यातायात माह के समापन कार्यक्रम में जागरुकता के लिए संस्थाओं, विद्यार्थियों को किया गया सम्मानित

सिविल सोसाइटी शहर के ट्रैफिक सुधारने के लिए प्रशासन के साथ आएं : डॉ गौरव सिंह

यातायात माह के समापन कार्यक्रम में जागरुकता के लिए संस्थाओं, विद्यार्थियों को किया गया सम्मानित

रायपुर। जिले में चल रहे सड़क सुरक्षा माह के समापन कार्यक्रम में गुरुवार को कलेक्टर डॉ. गौरव सिंह और एसपी संतोष सिंह शामिल हुए। उन्होंने इस माह में यातायात जागरुकता के लिए उत्कृष्ठ कार्य करने वाले संस्था और आयोजित किए गए विभिन्न प्रतियोगिताओं के विजेता विद्यार्थियों को सम्मानित किया गया।कलेक्टर ने कहा कि इस प्रकार के कार्यक्रम तब तक सिर्फ आयोजन के रूप में याद रखें जाते हैं। अक्सर यह देखा जाता है कि जबतक कोई परिचित या अन्य दुर्घटना का शिकार न हो, तभी हम सब यातायात के नियमों को याद करते हैं। हो सकता कुछ दिन पालन भी करें लेकिन मानवीय प्रवृत्ति के कारण हम भूल भी जाते हैं, लेकिन चाहिए कि हम सब सड़क नियमों का पालन करें और दूसरों को भी प्रेरित करें। कलेक्टर ने कहा कि कई सड़क दुर्घटना के कारण अधोसंरचना में कमी होना है। प्रशासन निरंतर इस दिशा में प्रयासरत रहता है और सुधार कार्य करते रहते हैं मगर बात यहीं तक सीमित नही है। एक आम नागरिक की जिम्मेदारी बनती है कि शासकीय संपत्ति की अधोसंरचना की सुरक्षा करें और उसे बचाए रखें।

उन्होंने कहा कि हम तय कर लें कि हमारे घर कोई अतिथि दुपहिया वाहन में आता है तो हम तुरंत उन्हें उनकी हेलमेट की याद दिलाएं। हम यदि स्वयं घर से निकले या कोई परिजन निकल रहे तो उनसे भी हेलमेट पहनने का आग्रह करें। यह याद रखें कि चाहे हमें कितनी दूरी जाना हो, किसी भी भूमिका में हों। हर व्यक्ति को हमेशा सड़क यातायात नियमों को ध्यान में रखते हुए हेलमेट अवश्य पहनें। हम एक दूसरे को याद दिलाते रहें तो एक चेन बन जाएगी और पूरा समाज जागरूक होगा। उन्होंने सिविल सोसायटी से आह्वान करते हुए कहा कि वे सुझाव दें कि रायपुर शहर का ट्रैफिक कितना अच्छा हो सकता है, क्या सुधार कर सकते हैं, ताकि हमारा शहर पूरे देश में यातायात के क्षेत्र में एक नजीर के रूप में याद किया जा सके।

एसपी संतोष सिंह ने कहा कि गतवर्ष के तुलना में सड़क दुर्घटनाओं के मौतों में अवश्य कमी आई हो मगर दुर्घटनाओं में वृद्धि हुई है। हम पहले सड़क सप्ताह मनाते थे। फिर पखवाड़ा अब माह मनाने लगे और आने वाले समय में वर्ष मनाने की आवश्यकता पड़ेगी। वास्तव में यातायात सप्ताह के प्रति निरंतर जागरूक रहने की आवश्यकता है। उन्होंने विदेशों में यातायात नियमों का उदाहरण देते हुए उन्होंने कहा कि हम सब नागरिक यातायात नियमों के प्रति जागरूक हों और दिनचर्या में शामिल करें। यातायात के बेसिक नियम हेलमेट, सीट बेल्ट, नशें में वाहन न चलाना इत्यादि का पालन करें। यह याद रखें हम सभी को ट्रैफिक नियमों का पालन करना है तभी सड़क दुर्घटनाओं में कमी आएगी। इस अवसर पर जिला पंचायत सीईओ विश्वदीप तथा अन्य पुलिस अधिकारी और एनजीओ के प्रतिनिधि उपस्थित थे।


Tags:

About The Author

Latest News

डॉ. शंकर लाल शर्मा चैरिटेबल ट्रस्ट ने आर्थिक मदद कर दिखाई दरिया दिली डॉ. शंकर लाल शर्मा चैरिटेबल ट्रस्ट ने आर्थिक मदद कर दिखाई दरिया दिली
अलीगढ़। डॉ. शंकर लाल शर्मा चैरिटेबल ट्रस्ट रजिस्टर्ड कार्यक्षेत्र संपूर्ण भारत अलीगढ़ के द्वारा मृतक के परिवार की आर्थिक  मदद...
बलरामपुर अस्पताल में मृत्यु फार्मासिस्ट के लिए हवन हुआ
आतंकवाद-निरोध पर भारत-ब्रिटेन की बैठक, चुनौतियों से निपटने के लिए सहयोग बढ़ाने पर सहमति
राष्ट्रीय आय में मजदूरों को मिले हिस्सा - दिनकर 
स्कूलों को बम से उड़ाने के मामले में ‘गेमिंग एप’ का संदिग्ध रोल
भगवान बुद्ध के पथ पर चलने को कहा
लखनऊ विवि ने रैंकिंग में 19वां स्थान प्राप्त किया