विद्युत स्टेशन व सब स्टेशनों से हाईटेंशन तार काट कर चोरी करने वाले गैंग का भंडाफोड़

एसटीएफ ने 23 अभियोगों में वांछित चल रहें अपराधी को मुठभेड़ के बाद किया गिरफ्तार 

विद्युत स्टेशन व सब स्टेशनों से हाईटेंशन तार काट कर चोरी करने वाले गैंग का भंडाफोड़

  • बुलन्दशहर पुलिस ने इसे पकड़ने के लिए 25 हजार घोषित कर रखा था इनाम
लखनऊ। एसटीएफ यूपी को 23 अभियोगों में वांछित चल रहें विद्युत स्टेशन व सब स्टेशनों से हाईटेंशन तार काट कर चोरी करने के अपराध में फरार तथा  बुलन्दशहर से  25,000 रुपए के पुरस्कार घोषित अपराधी दीपक पुत्र सुन्दर को पुलिस के सहयोग से बाद मुठभेड़ गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त हुई। इसके कब्जे से एक बाइक,एक तमंचा,दो जिन्दा कारतूस व एक खोखा बरामद किया है।
 
एसटीएफ उत्तर प्रदेश को विगत काफी दिनो से फरार व पुरस्कार घोषित अपराधियों के सक्रिय होकर अपराध करने एवं अन्य अपराधों में लिप्त होने की सूचनाऐं प्राप्त हो रहीं थीं। इस सम्बन्ध में  राज कुमार मिश्रा, अपर पुलिस अधीक्षक, एसटीएफ फील्ड इकाई, नोएडा के पर्यवेक्षण में तथा उप निरीक्षक  केशव शांडिल्य के नेतृत्व में एसटीएफ नोएडा की गठित टीम द्वारा जानकारी एकत्र की जा रही थी।
 
इसी बीच 26 नवंबर को एसटीएफ फील्ड इकाई, नोएडा को सूचना प्राप्त हुई कि ईनामी अपराधी थाना खानपुर क्षेत्र के मनिया टिकरी बम्बा लखावटी रोड पर किसी बड़ी घटना को अंजाम देने की फिराक में मोटर साईकिल पर घूम रहे हैं। इस सूचना पर विश्वास कर एसटीएफ नोएडा की टीम पुलिस के साथ  गन्तव्य स्थान पर पहुंचकर अभियुक्त दीपक पुत्र सुन्दरी को उपरोक्त स्थल से बाद मुठभेड़ गिरफ्तार कर लिया गया तथा घायल अभियुक्त दीपक को उपचार के लिए अस्पताल भेजा गया। 
  
गिरफ्तार अभियुक्त दीपक ने पूछताछ पर बताया कि उसकी उम्र लगभग 25 साल है। उसकी मौसी के लड़के का नाम शिवम पुत्र खडक सिंह है, जो ग्राम पारपा, थाना कपूरपुर, जनपद हापुड़ का रहने वाला है। शिवम पिछले काफी दिनों से जनपद अलीगढ़ के ग्राम अकराबाद के रहने वाले रोहित पुत्र रामपाल के संपर्क में था, जो गैंग बनाकर विद्युत स्टेशन व सब स्टेशनों पर पर लगे हाईटेंशन इलेक्ट्रिक तारों को काटकर तथा वहां स्टोर में पड़े हुए तारों को चोरी करने का काम काफी दिनों से कर रहा था।शिवम ने ही उसको (दीपक) अपने गैंग में सम्मिलित कर लिया था। इसके पश्चात इन्होंने (दीपक एवं शिवम) अपने गैंग के साथ मिलकर विगत दो वषों में तार चोरी की ताबड़तोड़ घटनाऐं कारित की है परन्तु वह (दीपक) अभी तक पकड़ा नहीं गया और फरार चल रहा था। 
 
अभियुक्त दीपक ने बताया कि उसने अपने गैंग के रोहित व शिवम के साथ मिलकर जनपद हापुड से खरखोदा वाली सड़क पर जनवरी 2022 के आसपास सड़क पर एवं खेत पर, एलटी लाइन के तार बिछ रहे थे, जिनको दो बार में तारों को गाड़ियों में भरकर चोरी करके ले जाया गया था। इसके बाद रोहित ने तार को दिल्ली में लगभग 1.50 लाख रूपये में किसी को बेच दिया था। इसके अलावा अभियुक्त दीपक ने अपने गैंग के साथ मिलकर जनपद हापुड में भटयाला वाला रोड, चितौंली ग्राम के पास, जहॉ विद्युत तार बिछ रहे थे, से भी तार चोरी करके काट लिये थे और इन तारों को भी रोहित के माध्यम से दिल्ली में बेचा गया था। इसके बाद दीपक ने अपने गैंग के साथ मिलकर माह फरवरी-मार्च, 2022 के आसपास जनपद बुलन्दशहर के थाना गुलावठी क्षेत्र के बराल से 13-14 बंडल तार चोरी करके ले जाया गया था।
 
इसके अलावा इस गैग के द्वारा जनपद अलीगढ के ग्राम अकराबाद से तार चोरी की चार घटनाऐं की गयीं तथा खुर्जा के आसपास की फैक्ट्री से भी तार चोरी की घटनायें कारित की गयी थीं। अभियुक्त दीपक ने यह भी बताया कि रोहित की जनपद अलीगढ़ में कबाडी की दुकान है और तार बेचने का काम रोहित ही करता था। वर्तमान में अभियुक्त रोहित जनपद बुलन्दशहर की जेल में बन्द है। उल्लेखनीय है कि अभियुक्त दीपक 23 अभियोगों में वांछित चल रहा था, जो अभी तक पकड़ा नहीं गया था, की गिरफ्तारी पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, जनपद बुलन्दशहर के स्तर से 25,000 रुपए का पुरस्कार किया गया था। गिरफ्तार अभियुक्त दीपक की अन्य आपराधिक गतिविधियों के सम्बन्ध में जानकारी की जा रही है।  
 
 
Tags: lucknow

About The Author

Latest News