प्रतियोगी परीक्षाओं के अभ्यर्थियों को परीक्षा पास कराने का झांसा देकर वसूली करने एवं कूटरचित दस्तावेज तैयार कर धनार्जन करने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए आज पुलिस टीम 3 अभियुक्तों को किया गिरफ्तार

08 लाख 84 हजार रू0 किया गया बरामद

 प्रतियोगी परीक्षाओं के अभ्यर्थियों को परीक्षा पास कराने का झांसा देकर वसूली करने एवं कूटरचित दस्तावेज तैयार कर धनार्जन करने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए आज पुलिस टीम 3 अभियुक्तों को किया गिरफ्तार

 कौशाम्बी 15 फरवरी  विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के अभ्यर्थियों को परीक्षा पास कराने का झांसा देकर वसूली करने एवं कूटरचित दस्तावेज तैयार कर धनार्जन करने वाले गिरोह का पर्दाफाश करते हुए आज पुलिस टीम03 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 08 लाख 84 हजार रू0 किया गया बरामद किया है।पुलिस सूत्रों के अनुसार प्रतियोगी परीक्षाओं को  नकल विहीन कराने तथा किसी भी प्रकार की धांधली को रोकने तथा परीक्षाओं की शुचिता को बनाये रखने हेतु पुलिस अधीक्षक कौशाम्बी बृजेश कुमार श्रीवास्तव के निर्देशन में जनपद कौशाम्बी की साइबर सर्विलांस तथा एसओजी टीम द्वारा लगातार अभिसूचना संकलित किया जा रहा था इत क्रम में निरीक्षक गणेश प्रसाद प्रभारी साइबर क्राइम थाना जनपद कौशाम्बी एवं सिद्धार्थ सिंह  एसओजी/सर्विलांस (स्वाट) तथा  विजेन्द्र सिंह प्रभारी फील्ड यूनिट व उनकी टीम को जरिए मुखबिर खास सूचन मिली कि ओसा चौराहे के समीप नहर पुलिया के पास 03 व्यक्ति बोलेरो कार लेकर मौजूद है जो आगामी विभिन्न परीक्षाओं: पास कराने के नाम पर धन उगाही करने हेतु भोले-भाले अभ्यर्थियों की तलाश में है तथा इनके द्वारा विगत कई परीक्षाओं फर्जी दस्तावेज बनाने एवं परीक्षार्थियों को परीक्षा में पास कराने का झांसा देकर धन उगाही की गयी है। यह गिरोह कौशाम्ब तथा इसके आस-पास के जनपदों में घूम-घूम कर परीक्षार्थियों से अवैध रूप से धन उगाही करते हैं। उपरोक्त सूचना प पुलिस टीम द्वारा घटना की गम्भीरता को देखते हुए शीघ्रता पूर्वक मखबिर द्वारा बताये गये स्थान पर पहुंचकर देखा तो वह पर एक सफेद बोलेरो गाड़ी खड़ी थी जिसमें 03 व्यक्ति बैठे हुये थे। पुलिस टीम को देखकर गाड़ी में बैठे व्यक्तियों द्वारा भागने का प्रयास किया  अचानक उनकी गाड़ी झटका खाकर वही बन्द हो गयी जिसपर तत्परतापूर्वक पुलिस टीम द्वारा कार को चारो तरफ से घेरकर तीनों व्यक्तियों को हिरासत में लेकर पूछताछ किया गया तो चालक द्वारा अपना नाम आयुष पाण्डेय पुत्र विनोद कुमार पाण्डेय39  निवासी बभनपुरा थाना रानीपुर जनपद मऊ तथा अन्य 02 व्यक्तियों का नाम पुनीत सिंह पुत्र धीरेन्द्र प्रताप सिंह  35  निवासी ग्राम जोगीनका थाना गोपीगंज जनपद भदोही व नवीन सिंह पुत्र फतेह बहादु सिंह निवासी हरपुर पोस्ट बगली पिजरा थाना सरायलखन्सी जनपद मऊ  31  बताया पुलिस द्वारा कड़ाई से पूछताछ करने पर अभियुक्तों द्वारा बताया गया कि विभिन्न परीक्षाओं के फर्जी दस्तावेज बनाने परीक्षा पास कराने के नाम पर  अभ्यर्थियों से झांसा देकर धन उगाही करते है। आरोपी जनोने बतायाकि पूर्व में आयोजित विभिन्न परीक्षाओं में जो पैसा लिये थे उनमें से 08 लाख 84 हजार रू0 जो आयुष के पास थे उसका आपस में बटवारा करने के पश्चात अन्य अभ्यर्थियों की तलाश कर रहे थे। पूछताछ में ये भी बात प्रकाश में आयी कि आयुष के द्वारा विभिन्न कोचिंग संस्थानों में पढ़ाया जाता है तथा पुनीत और नवीन भी कोचिंग संचालकों के सम्पर्क में रहते है। जिससे अभ्यर्थी आसानी से इनके सम्पर्क में आ जाते है। अभियुक्तों के पास से एक कूटरचित उत्तर प्रदेश पुलिस का पहचान पत्र भी बरामद हुआ। पुलिस  तीनो जल साजों के विरुद् रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच कर रही है।
Tags:

About The Author

Related Posts

Latest News