किसानों की हुंकार से दिल्ली पुलिस अलर्ट

 उत्तर पूर्वी जिले में धारा 144 लागू, पंजाब-हरियाण बॉर्डर सील

किसानों की हुंकार से दिल्ली पुलिस अलर्ट

दिल्ली की सीमा पर बैठने की संभावना, सिंधु-टिकरी पर बैरिकेडिंग सात जिलों में इंटरनेट बंद एमएसपी समेत कई मांगों को लेकर किसान संगठनों ने 13 फरवरी को दिल्ली कूच का किया आह्वान ट्रैक्टरों, ट्रॉलियों, बसों, ट्रकों, वाणिज्यिक वाहनों, निजी वाहनों नहीं मिलेगा प्रवेश

नई दिल्ली। किसानों के दिल्ली कूच के आह्वान को देखते हुए उत्तर पूर्वी दिल्ली जिला में धारा 144 लगा दिया गया है। जिले के वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि एमएसपी आदि मांगों को लेकर किसान संगठनों के 13 फरवरी को दिल्ली कूच करने के आह्वान की जानकारी मिली है। मांगें पूरी होने तक उनके दिल्ली की सीमा पर बैठने की संभावना है। पूर्व में हुए विरोध प्रदर्शनों के दौरान किसानों ने जिस प्रकार का व्यवहार दिखाया था, उसे ध्यान में रखते हुए ट्रैक्टर-ट्रॉली आदि के साथ किसानों व समर्थकों के अपने-अपने जिलों से दिल्ली आने की संभावना है। यह भी संभावना है कि हरियाणा, पंजाब, यूपी, राजस्थान, उत्तराखंड और एमपी आदि राज्यों से भी किसान आ सकते हैं।

किसी भी अप्रिय घटना से बचने और कानून और व्यवस्था बनाए रखने के साथ, क्षेत्र में जीवन और संपत्ति को बचाने के लिए धारा 144 आपराधिक प्रक्रिया संहिता, 1973 का एहतियाती आदेश जारी किया जाना आवश्यक है। अधिकारियों ने कहा कि, दिल्ली और उत्तर प्रदेश के बीच सभी सीमाओं पर और उत्तर पूर्वी जिले के क्षेत्राधिकार क्षेत्र में आस-पास के क्षेत्रों में आम जनता के इकट्ठा होने पर रोक रहेगी। वहीं, उत्तर प्रदेश से दिल्ली में प्रदर्शनकारियों को ले जाने वाले ट्रैक्टरों, ट्रॉलियों, बसों, ट्रकों, वाणिज्यिक वाहनों, निजी वाहनों आदि में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। उत्तर पूर्वी जिला पुलिस प्रदर्शनकारियों को दिल्ली में प्रवेश करने से रोकने के लिए सभी प्रयास करेगी। किसी भी व्यक्ति व प्रदर्शनकारी को हथियार रखने की अनुमति नहीं होगी।

उत्तर पूर्वी जिले की पुलिस ऐसे व्यक्तियों को मौके पर हिरासत में लेने के लिए सभी प्रयास करेगी। किसान आंदोलन को देखते हुए बॉर्डर एरिया में बैरिकेडिंग की जा रही है। साथ ही पुलिसकर्मियों और अर्धसैनिक बलों को भी तैनात किया जा रहा है। दिल्ली पुलिस ने कहा, 'जानकारी मिली है कि कुछ किसान संगठनों ने एमएसपी पर कानून और अन्य मांगों को लेकर अपने समर्थकों से 13 फरवरी को दिल्ली में इकट्ठा होने व मार्च करने का आह्वान किया है। उनकी मांगें पूरी होने तक दिल्ली की सीमा पर बैठने की संभावना है। हरियाणा व पंजाब के किसान संगठनों के 13 फरवरी के दिल्ली कूच के आह्वान के बाद तीनों राज्यों में अलर्ट है। किसानों को दिल्ली जाने से रोकने के लिए हरियाणा सरकार ने पंजाब से आने वाले सभी बॉर्डर सील कर दिए हैं।

12 जिलों में धारा 144 लागू कर सात जिलों में इंटरनेट सेवाओं को भी बंद करने का फैसला लिया है। राज्य के गृह विभाग के मुताबिक, अंबाला, कुरुक्षेत्र, कैथल, जींद, हिसार, फतेहाबाद, सिरसा और पुलिस जिला डबवाली में रविवार को सुबह छह बजे से लेकर 13 फरवरी रात 12 बजे तक मोबाइल इंटरनेट सेवाएं, बल्क एसएमएस और डोंगल सर्विस ठप हो गए हैं। व्यक्तिगत एसएमएस, बैकिंग एसएमएस, ब्रॉडबैंड व लीज लाइंस पहले की तरह चलती रहेंगी। अंबाला में डीसीपी ने कहा कि किसान आंदोलन के कारण, हमने शंभू सीमा को सील कर दिया है...जब वे (किसान) यहां आएंगे, तो हम उनसे अनुरोध करेंगे कि वे इससे आगे न जाएं क्योंकि उनके पास इसकी अनुमति नहीं है। हम चाहते हैं कि वे शांतिपूर्वक आंदोलन समाप्त करें।  

About The Author

Latest News

भ्रष्टाचार के आरोपों में मुख्य कार्यपालक अधिकारी निलंबित भ्रष्टाचार के आरोपों में मुख्य कार्यपालक अधिकारी निलंबित
महोबा। भ्रष्टाचार के आरोपों में घिरे डिस्ट्रिक्ट कोऑपरेटिव बैंक के मुख्य कार्यपालक अधिकारी को सदस्य सचिव आरके कुलश्रेष्ठ के द्वारा...
पारा 46 के पार, बढ़ते तापमान में बढ़ाई चिंता
श्रद्धालुओं से भरी पिकअप अनियंत्रित होकर पलटा, 18 घायल
अधिकांश शहर लू की चपेट में, 42 जिलों में भीषण गर्मी का अलर्ट
शादी की तस्वीरें डिलीट करने पर दिव्या अग्रवाल ने दी सफाई
धारावी के तीन मंजिला गोदाम में आग लगने से 6 लोग झुलसे, अस्पताल में भर्ती
आंद्रे रसेल ने अनन्या पांडे के साथ किया डांस