भाजपा सरकार में देश का संविधान, लोकतंत्र और दलित का सम्मान खतरे में हैं: सुशील पासी

विकास खण्ड सिद्धौर के ग्राम बब्बकरपुर में कांग्रेस पार्टी द्वारा दलित गौरव संवाद कार्यक्रम आयोजित 

भाजपा सरकार में देश का संविधान, लोकतंत्र और दलित का सम्मान खतरे में हैं: सुशील पासी

बाराबंकी। भारत का संविधान जन, गण, मन का भाग्य विधाता हैं, संविधान भारत का राजधर्म हैं। संविधान सभा ने 26 नवम्बर 1949 के दिन संविधान पारित किया था देश के लिये आज की तारीख कभी भूलने वाली नही है। आज के दिन देश की जनता को मौलिक अधिकार मिले थे लेकिन आज बड़े ही अफसोस के साथ कहना पड़ रहा हैं कि भाजपा सरकार में देश का संविधान, लोकतंत्र और दलित का सम्मान खतरे में हैं। कांग्रेस पार्टी देश के संविधान, लोकतंत्र तथा दलित के सम्मान को बचाने की लड़ाई लड़ रही हैं और इसके लिये कांग्रेस के हर कार्यकर्ता को लड़ाई लड़नी पड़ेंगी।
 
 उक्त उद्गार आज संविधान दिवस के अवसर पर विकास खण्ड सिद्धौर के ग्राम बब्बकरपुर में कांग्रेस पार्टी द्वारा आयोजित दलित गौरव संवाद कार्यक्रम के अन्तर्गत प्रदेश कांग्रेस के नवमनोनीत उपाध्यक्ष सुशील पासी ने संविधान के रचयिता बाबा साहब भीमराव अम्बेडकर के चित्र पर माल्यार्पण करने के पश्चात् व्यक्त किये। कार्यक्रम की अध्यक्षता कांग्रेस अध्यक्ष मो. मोहसिन ने तथा संचालन कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग के पूर्व अध्यक्ष रामहरख रावत ने किया। दलित गौरव संवाद कार्यक्रम में कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग के मध्य जोन के अध्यक्ष नवमनोनीत प्रदेश कांग्रेस के महासचिव तनुज पुनिया विशिष्ट अतिथि के रूप में मौजूद थे।
 
कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि नवमनोनीत उ.प्र. कांग्रेस के महासचिव तनुज पुनिया ने संविधान के रचयिता बाबा साहब के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित करने के पश्चात् कहा कि आज भाजपा की सरपरस्ती में दलितों पर अत्याचार हो रहा हैं। दलितों पर हो रहे लगातार अत्याचार ने देश एवं प्रदेश की आत्मा को झकझोर दिया हैं। इस सरकार में संविधान खतरे में हैं, एस.सी. समाज का सब-प्लान समाप्त कर दिया गया हैं। आरक्षण को खत्म करने की साजिश की जा रही हैं जिसे कांग्रेसजन कतई बर्दाश्त नही करेंगे और देश के संविधान तथा दलित समाज के गौरव को बचाने के लड़ाई में कोई भी कुर्बानी देने से पीछे नही हटेंगे।
 
तनुज पुनिया ने कहा कि 2010 में कांग्रेस की यूपीए सरकार ने दलित सब प्लान के लिये बजट का कम से कम 4.63 प्रतिशत आवंटित करने के लिये ‘‘नरेन्द्र जाधव‘‘ गाइड लाइन्स पेश की थी लेकिन भाजपा सरकार ने बजट में वंचित वर्गों का हिस्सा खत्म कर दिया। आज जौनपुर, हाथरस, लखीमपुर, आजमगढ़, प्रयागराज, कौशाम्बी, बहराइच सहित प्रदेश के तमाम जिलों में दलितों पर अत्याचार हो रहे हैं, उनकी हत्याऐं हो रही हैं लेकिन सरकार पीड़ित दलित परिवारों को न्याय न दिलाकर अपराधियों के साथ खड़ी हैं। आज संविधान दिवस के अवसर पर इस दलित गौरव संवाद में हमें यह संकल्प लेना होगा कि सरकार के इस रवैया का हर स्तर पर विरोध किया जायेंगा और पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के लिये संघर्ष किया जायेंगा।
 
 कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे कांग्रेस अध्यक्ष मो. मोहसिन ने देश व प्रदेश की भाजपा सरकार की कार्य प्रणाली की तीव्र निन्दा करते हुए कहा कि दलित समाज भाजपा के एजेण्डें में नही हैं। दलित समाज के खिलाफ अस्पृश्यता की भयावह प्रथा भाजपा नेताओं के दिलों दिमाग में व्याप्त हैं। आज संविधान से छेड़ छाड़ हो रही हैं। संविधान में दिये गये मौलिक अधिकारों का हनन हो रहा हैं, पूरे प्रदेश में कानून का राज खत्म होकर जंगलराज कायम हैं। आज प्रत्येक कांग्रेसजन को देश के संविधान एवं दलित समाज के मान सम्मान को बचाने के लिये आगे आना होगा।
 
 
विकास खण्ड सिद्धौर के ग्राम बब्बकरपुर में आयोजित दलित गौरव संवाद में दलित अधिकार पत्र भी भरवाये गये, कार्यक्रम में मुख्य रूप से आयोजक गजराज रावत, मन्नू रावत, राजू जैदी, डॉ. लल्ला रावत, अजीत रावत, अवधेश रावत, रामसुमिरन रावत, शिवनरायन रावत, नेपाल सिंह रावत, ताराचन्द्र रावत, जागेश्वर पासी, अजीत वर्मा, संतशरण वर्मा, यशवन्त सिंह, शबनम वारिस, पुत्तूलाल वर्मा, भुलान सिंह, अली अब्बास जैदी, संतोष चौरसिया, अरविन्द वर्मा, रंजीत मिश्रा, सियाराम यादव, सुशील वर्मा सहित सैकड़ों की संख्या में कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग के कार्यकर्ता एवं पदाधिकारी मौजूद थें।
 
Tags: Barabanki

About The Author

Latest News