पुलिस की लापरवाही व ढुलमुल रवैए से कानून व्यवस्था धड़ाम

पुलिस की लापरवाही व ढुलमुल रवैए से कानून व्यवस्था धड़ाम

सलोन,रायबरेली। कोतवाली पुलिस महिला सुरक्षा को लेकर सजक नही है। पुलिस की लापरवाही व ढुलमुल रवैए से कानून व्यवस्था धड़ाम हो चुकी है।क्षेत्र में अपराधी खुले आम घूम रहे है।महिलाओं के साथ शोषण हो रहा है। उनकी अस्मत लूटी जा रही है और कोतवाली पुलिस सुलह समझौता करा कर मामले का निपटारा करने में जुटी हुई है। लोगों का पुलिस से भरोसा उठ रहा है। जनप्रतिनिधि और नेता भी लोगों की समस्याएं सुनने की बजाय राजनीति करने में जुटे हुए है। जन समस्याएं सुनने वाला कोई नहीं है।एक ऐसा ही मामला कोतवाली क्षेत्र में देखने को मिला है।

कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में दिन दहाड़े एक युवती को अगवा करके उसकी इज्जत लूटी गई। गांव के ही रहने वाले कामान्ध युवकों ने युवती को अगवा करके गांव में बंद पड़े एक खंडहर मकान में ले जाकर उसके साथ बारी बारी से दुष्कर्म किया। और अचेत अवस्था में छोड़ कर सभी युवक फरार हो गए। लाचार, बेबस युवती कोतवाली पुलिस के पास शिकायत दर्ज करवाने पहुंची तो कोतवाली की काबिल पुलिस ने लोक लाज कर डर और भय बता कर मुकदमा पंजीकृत करने से मना कर दिया।

और युवती को टरकाते रहे। कुछ दिन बीत जाने के बाद मामले को हादसा बता कर सुलह समझौता कराने के लिए दुष्कर्म पीड़िता पर दबाव बनाने लगे। और अंत में पीड़िता को धमका कर सुलह समझौता करवा लिया। युवती का कहना है की गांव के ही रहने वाले सल्लू तिवारी, ऋषभ, शिबू , व अंकित ने 27 अगस्त 2023 को मेरे साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। न्याय के लिए थाने के चक्कर लगाती रही परंतु न्याय मिलना तो दूर पुलिस ने मुकदमा तक दर्ज करना मुनासिब नहीं समझा। दुष्कर्म पीड़िता न्याय पाने के लिए दर दर भटक रही है।

About The Author

Latest News