जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला उद्योग बन्धु की बैठक सम्पन्न

जिलाधिकारी की अध्यक्षता में जिला उद्योग बन्धु की बैठक सम्पन्न

ब्रजेश त्रिपाठी।

प्रतापगढ़। जिलाधिकारी संजीव रंजन की अध्यक्षता में कैम्प कार्यालय के सभागार में जिला उद्योग बन्धु की बैठक सम्पन्न हुई जिसमें पुलिस अधीक्षक सतपाल अंतिल, मुख्य विकास अधिकारी नवनीत सेहारा व अन्य सम्बन्धित अधिकारी सहित व्यापारी एवं उद्यमी सम्मिलित हुये। बैठक में उपायुक्त उद्योग ने बताया कि प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना के अन्तर्गत पोर्टल पर प्राप्त आवेदन पत्रों का नगरीय क्षेत्र के लिये यूएलबी एवं ग्रामीण क्षेत्र के लिये प्रधानों द्वारा सत्यापन किया जाना है जिसमें कुल ग्राम प्रधान की संख्या 1193 है जिसके सापेक्ष 983 ग्राम प्रधान आंनबोर्ड है, 210 ग्राम प्रधान अभी आंनबोर्ड हेतु अवशेष है।

वर्तमान समय में 2622 आवेदन पत्र सत्यापनोपरान्त जिला स्तरीय समिति द्वारा राज्य स्तरीय समिति को अग्रसारित किया जा चुका है। जिलाधिकारी ने निर्देशित किया कि नगरीय क्षेत्र एवं ग्रामीण क्षेत्रों में प्रधानमंत्री विश्वकर्मा योजना के अधिक से अधिक आवेदन कराये जायें जिससे योजना का लाभ लोगों को मिल सके। बैठक में उपायुक्त उद्योग ने बताया कि ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट-2023 के अन्तर्गत हस्ताक्षरित एम0ओ0यू0 के क्रियान्वयन की समीक्षा में बताया गया कि जनपद में कुल 213 एम0ओ0यू0 हस्ताक्षरित हुये है जिसके सापेक्ष 69715 रोजगार प्रस्तावित है।

उक्त एम0ओ0यू0 के सापेक्ष 71 इकाईयॉ जी0बी0सी0 में प्रतिभाग करने हेतु तैयार है जिनमें रूपये 1038.03 पूंजी निवेश एवं 5326 रोजगार प्रस्तावित है। इन तैयार इकाईयों में से 60 इकाईयों का ग्राउण्ड वेरीफिकेशन करते हुये निवेश सारथी पोर्टल पर वांछित सूचनायें अपलोड की जा चुकी है। शेष इकाईयों का स्थलीय सत्यापन किया जा रहा है। उन्होने कहा कि पशुपालन विभाग, वन विभाग व डेयरी विभाग के अधिकारी अद्यतन प्रगति से अवगत करायें कि उनके विभाग से सम्बन्धित कितनी इकाईयॉ जी0बी0सी0 में प्रतिभाग करने हेतु तैयार है। 

एक जनपद एक उत्पाद योजना में बैंकों को 29 आवेदन पत्र प्रेषित किये गये है जिनमें से 17 आवेदन पत्र स्वीकृत किया गये है जिसके सापेक्ष 16 आवेदन पर ऋण वितरित किया जा चुका है। मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना में विभिन्न बैंकों को 165 आवेदन पत्र प्रेषित किये गये है जिनमें से 68 आवेदन स्वीकृत किये गये जिसके सापेक्ष 62 आवेदनों पर ऋण वितरण की कार्यवाही की गयी है। इसी प्रकार प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम योजना के तहत 134 आवेदन पत्र बैंकों को प्रेषित किये गये है जिनमें से 59 आवेदन स्वीकृत किये जा चुके है। जिलाधिकारी ने बैंकों के समन्वयकों को निर्देशित किया कि बैंकों में जो भी पत्रावलियॉ लम्बित है उसका निस्तारण जल्द से जल्द निस्तारण किया जाये और ऋण वितरण की कार्यवाही भी की जाये।

डीएम ने निर्देशित किया गया कि एक जनपद एक उत्पाद योजना, मुख्यमंत्री युवा स्वरोजगार योजना एवं प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम योजना में लाभार्थियों के ज्यादा से ज्यादा आवेदन पत्र प्राप्त किये जाये जिससे बैंकों द्वारा उन्हें लाभ प्राप्त हो सके।बैठक में उद्यमी मो0 अनाम व अनुराग खण्डेलवाल ने अपनी-’अपनी समस्याओं के सम्बन्ध में अवगत कराया। जिस पर जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देशित किया कि उद्यमियों/व्यापारियों की समस्याओं का समाधान प्राथमिकता के आधार पर किया जाये, इसमें किसी भी स्तर पर लापरवाही न बरती जाये। इस अवसर पर उपायुक्त उद्योग अजय कुमार त्रिपाठी, जिला अग्रणी बैंक प्रबन्धक गोपाल शेखर झा, बैंकों के जिला समन्वयक सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहे।

About The Author

Latest News