खेल महोत्सव के तहत जीडी ग्लोबल स्कूल में कबड्डी प्रतियोगिता का हुआ आयोजन

जिले की 8 तहसीलों से विभिन्न टीमों के खिलाड़ियों ने किया प्रतिभाग

खेल महोत्सव के तहत जीडी ग्लोबल स्कूल में कबड्डी प्रतियोगिता का हुआ आयोजन

कबड्डी भारतीय संस्कृति का प्रतीक है, जो स्वदेशी खेलों को बढ़ावा देता है-गौरव अग्रवाल, प्रबन्धक

आजमगढ़। आज 24 जनवरी दिन बुधवार को करतालपुर स्थित जी डी ग्लोबल स्कूल में आजमगढ़ महोत्सव के तत्वाधान में जिला स्तरीय कबड्डी प्रतियोगिता का भव्य आयोजन किया गया। कबड्डी प्रतियोगिता का उद्घाटन विद्यालय के प्रबंधक गौरव अग्रवाल, निदेशिका श्रीमती स्वाति अग्रवाल एवं प्रधानाचार्या श्रीमती मोनिका सारस्वत पाण्डेय ने दीप प्रज्वलित करके किया। इस कबड्डी प्रतियोगिता में जिले की 8 तहसीलों से विभिन्न टीमों में बालक और बालिकाओं ने प्रतिभाग किया। बालिका वर्ग से विभिन्न टीमों से सेमीफाइनल में निजामाबाद, फूलपुर, लालगंज और सदर तहसील की बालिकाओं ने प्रतिभाग किया। जिसमें पहला सेमीफाइनल निजामाबाद और फूलपुर तहसील के मध्य और द्वितीय सेमीफाइनल मैच लालगंज और सदर तहसील के मध्य आयोजित हुआ।

बालिका वर्ग में फाइनल मैच फूलपुर और सदर टीम में हुआ जिसमें सदर तहसील की टीम विजेता घोषित हुई । वहीं बालक वर्ग में पहला सेमीफाइनल मैच सगरी और मेहनगर तथा दूसरा सेमीफाइनल मैच मार्टिनगंज और बूढ़नपुर के मध्य हुआ । बालक वर्ग का फाइनल मैच सगरी और मार्टिनगंज के बीच हुआ जिसमें मार्टिनगंज की टीम ने विजय प्राप्त की। विद्यालय की निदेशिका श्रीमती स्वाति अग्रवाल ने सभी विजेता बालिकाओं को मेड्ल और शील्ड से सम्मानित करते हुए कहा कि आज की बालिकाएं भी किसी भी क्षेत्र में बालकों से कम नहीं है।

विद्यालय के प्रबंधक गौरव अग्रवाल ने बालक वर्ग के सभी प्रतिभागियों को पुरस्कृत करते हुए कहा कि कबड्डी भारतीय संस्कृति का प्रतीक है, जो स्वदेशी खेलों को बढ़ावा देता है और ग्रामीण परंपराओं का जश्न मनाता है । खेल ने शारीरिक गतिविधि के महत्व पर प्रकाश डालने में मदद की है और भारतीय खेल उद्योग को एक नई दिशा प्रदान की है।विद्यालय की प्रधानाचार्या श्रीमती मोनिका सारस्वत पाण्डेय ने जिला प्रशासन के इस प्रयास की सराहना करते हुए कहा कि कबड्डी एक ऐसा खेल है जो भारतीय इतिहास और संस्कृति में गहराई से निहित है। कबड्डी खेल ने शारीरिक फिटनेस, टीम भावना और खेल कौशल को बढ़ावा दिया है। खेल की बढ़ती सफलता और लोकप्रियता के साथ, भारत में कबड्डी का भविष्य उज्ज्वल और आशाजनक लग रहा है।

Tags: Azamgarh

About The Author

Latest News