सहूलियत के बाद भी बिजली चोर नहीं जमा कर पाए जुर्माना....

-उन्नाव शहर के कांजी, छपियाना, तालिबसराय के अलावा हसनगंज, शुक्लागंज बंथर आदि में बिजली चोरी के मामले सबसे अधिक,
-बिजली चोरी करने वाले तय राजस्व जमा करने में पीछे, अब तक सिर्फ दो दर्जन लोगो ने रजिस्ट्रेशन कराया,
उन्नाव, । ओटीएस में इस बार सिर्फ बकायेदार ही नहीं, बल्कि ऐसे उपभोक्ता जिन पर बिजली चोरी करने पर जुर्माना लगाया गया है, उन्हें भी राहत मिल रही है। लेक़िन इसमें वह भी रुचि नही दिखा रहे। करीब 90 हजार बिजली चोरों में सिर्फ 24 लोगों ने ओटीएस योजना के लाभ हेतु रजिस्ट्रेशन कराया है। जो अब तक रिकार्ड में काफी कम है। हालांकि विभाग ऐसे उपभोक्ता पर नकेल कसने की बात कर रहा है। उनका कहना है कि राजस्व जमा न करने वाले बिजली चोरों की विद्युत लाइट काटी जाएगी। मनमानी बर्दाश्त नही की जाएगी। बिजली विभाग ने आठ नवंबर से 31 दिसंबर तक ओटीएस लागू किया है,
 
जिसके अंतर्गत बकायेदारी एवं चोरी के मामले में फंसे करीब 60 हजार उपभोक्ताओं को योजना का लाभ मिलेगा। यह योजना तीन चरणों में लागू की जाएगी। पहला चरण आठ से 30 नवंबर तक चलाया जा रहा है। जिले में ऐसे उपभोक्ताओं पर करीब एक करोड़, 17 लाख रुपए से अधिक का जुर्माना बकाया है। बिजली चोरी के मामले शहर के बाद शुक्लागंज, अचलगंज, बंथर, मगरवारा, हसनगंज सबसे अव्वल है। इन क्षेत्रों में सर्वाधिक बिजली चोरी के मामले में सामने आए और उपभोक्ताओं पर जुर्माना लगाया गया है। अफसर बताते है कि छापे के दौरान जितना जुर्माना लगाया गया है, एक मुश्त जमा करने पर 65 प्रतिशत तक माफ हो जाएगा। ओटीएस में पंजीकरण कराते समय जुर्माने का 10 प्रतिशत और बाकी 90 प्रतिशत रकम का 25 प्रतिशत जमा करना होगा।
 
Tags: Unnao

About The Author

Latest News