संसद में सुरक्षा की चूक मामले में लोकसभा के 8 कर्मचारी सस्पेंड

संसद में सुरक्षा की चूक मामले में लोकसभा के 8 कर्मचारी सस्पेंड

नई दिल्ली। संसद की सुरक्षा व्यवस्था में सेंध लगाकर लोकसभा की कार्यवाही के दौरान सदन में कूदने वाले दो लोगों के मामले में लोकसभा सचिवालय ने सात कर्मचारियों को सस्पेंड कर दिया है। इसके साथ ही लोकसभा स्पीकर ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। मिली जानकारी के अनुसार, संसद भवन सुरक्षा स्टाफ से जुड़े हुए 8 लोगों को सस्पेंड किया गया है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने सदन में हंगामा कर रहे विपक्षी सांसदों को बताया कि स्पीकर ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं।

इन कर्मचारियों पर गिरी गाज
लोकसभा में कार्यरत जिन कर्मचारियों को निलंबित किया उनके नाम- रामपाल, अरविंद, वीर दास,गणेश,अनिल, प्रदीप, विमित और नरेंद्र शामिल है। इन सभी कर्मचारियों की जिम्मेदारी संसद की सुरक्षा थी लेकिन वे इसमें नाकाम रहे। 

सरकार की ओर से सामने आए राजनाथ
 लोकसभा में रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि कल जो घटना हुई, उसकी सबने निंदा की है। यह बहुत दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। लोकसभा अध्यक्ष ने घटना के जांच के आदेश दिए हैं। हम सभी सांसदों को सावधानी बरतने की आवश्यकता है। इस प्रकार से संसद में अराजक स्थिति पैदा करना उचित नहीं है। 

दर्शक दीर्घा से दो लोग सदन के भीतर कूद गए थे
बता दें कि संसद पर 2001 में किए गए आतंकी हमले की बरसी के दिन बुधवार को सुरक्षा में सेंधमारी की बड़ी घटना उस वक्त सामने आई जब लोकसभा की कार्यवाही के दौरान दर्शक दीर्घा से दो लोग सदन के भीतर कूद गए और ‘केन’ के जरिये पीले रंग का धुआं फैला दिया। घटना के तत्काल बाद दोनों को पकड़ लिया गया। इस घटना के कुछ देर बाद ही पीले और लाल रंग का धुआं छोड़ने वाली 'केन' लेकर संसद भवन के बाहर प्रदर्शन करने वाले एक पुरुष और एक महिला को गिरफ्तार किया गया।

आरोपियों की हुई पहचान
सदन में कूदने वाले दोनों व्यक्तियों की पहचान सागर शर्मा और मनोरंजन डी.के रूप में हुई है। संसद भवन के बाहर से गिरफ्तार किए गए दो लोगों की पहचान हरियाणा के जींद जिले के गांव घासो खुर्द की निवासी नीलम (42) और लातूर (महाराष्ट्र) के निवासी अमोल शिंदे (25) के रूप में हुई है। 

 

Tags:

About The Author

Tarunmitra Picture

‘तरुणमित्र’ श्रम ही आधार, सिर्फ खबरों से सरोकार। के तर्ज पर प्रकाशित होने वाला ऐसा समचाार पत्र है जो वर्ष 1978 में पूर्वी उत्तर प्रदेश के जौनपुर जैसे सुविधाविहीन शहर से स्व0 समूह सम्पादक कैलाशनाथ के श्रम के बदौलत प्रकाशित होकर आज पांच प्रदेश (उत्तर प्रदेश, बिहार, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और उत्तराखण्ड) तक अपनी पहुंच बना चुका है। 

Latest News

 केंद्रीय विद्यालय गोपालपुर में आयोजित हुए मतदाता जागरूकता कार्यक्रम  केंद्रीय विद्यालय गोपालपुर में आयोजित हुए मतदाता जागरूकता कार्यक्रम
कोरबा। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अजीत वसंत के निर्देशन एवं स्वीप नोडल अधिकारी संबित मिश्रा के मार्गदर्शन में लोकसभा...
सकल जैन समाज ने निकाली अहिंसा साइकिल रैली
मुख्यमंत्री योगी ने केंद्रीय मंत्री व भाजपा प्रत्याशी गजेंद्र सिंह शेखावत के लिए किया डेढ़ घंटे तक रोड शो
मैं सत्य का पथिक हूं और राजस्थान की धरती पर सत्य की आवाज को मजबूती मिलती है - योगी
कार्य में लापरवाही बरतने वाले 131 कार्मिकों पर एफआईआर दर्ज
लोकसभा चुनाव की रिपोर्टिंग के लिए बीकानेर आए स्पेनिश पत्रकार हुगो का किया सम्मान
बांसवाड़ा में सभा को संबोधित करेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, चार जिलों से आएंगे कार्यकर्ता