ग्रामीण चिकित्सक जात पात और राजनीति से बचे, डॉ मिथलेश चौबे

ग्रामीण चिकित्सक जात पात और राजनीति से बचे, डॉ मिथलेश चौबे

सासाराम (रोहतास) ए‌ के एफ ग्रामीण चिकित्सक मंच का प्रदेश सम्मेलन कार्यक्रम की समीक्षा बैठक 03 नवम्बर को सासाराम रौजा रोड अवस्थित आर्श माल्टिस्पेशलिटी नर्सिंग होम के सभागार मे किया गया। इस् सम्मेलन के दौरान प्रेस वार्ता मे उक्त जानकारी देते हुए ग्रामीण चिकित्सक मंच के राष्ट्रीय संरक्षक एवं इस प्रोग्राम के मुख्य अतिथि, डॉ मिथिलेश चौबे के ने कहा की ग्रामीण चिकित्षक किसी बहकावे मे ना आये और ना हि जाति,पाती या राजनीति के चक्कर मे पड़े, वर्तमान में जिले और पूरे राज्य में बहोत सारे फर्जी संगठन कार्य कर रहे हैं जो सरकार के खिलाफ बिद्रोह की भाषा बोलते हुए गलत कार्य करने को उक्शा रहे है,और खुद को नेता बनाने एवं खुद की राजनितिक लाभ कर लिए कार्य किये जा रहे है। जिससे ग्रामीण चिकित्सको को बहुत परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।ऐसे बहरूपिये नेताओ से बचना है,साथ हि उन्होंने कहा की मुद्दा ये है कि जब सभी को ट्रेनिंग दिया जा रहा हैं। लेकिन नियुक्ति नहीं ऐसा क्यू ?यदि सरकार सच मे ग्रामीण चिकित्सकों का भला सोच रही है तो ट्रेनिंग पास करते ही तुरंत नियुक्ति क्यों नहीं किया जा रहा हैं ? ग्रामीण चिकित्सक अपने पास सर्दी, बुखार जैसे प्राथमिक उपचार के लिए कुछ दवाइया रखते हैं। क्यु कि उन्हे सिर्फ दवाइयो से ही कुछ आय होती है।लेकिन बिना ड्रग लाइसेन्स दवा रखने पर ड्रग अधिकारी के द्वारा भी कानूनी करवाई का डर है। तो ऐसे में करे क्या ? अपनी जीविका चलाने के  लिए।साथ ही हम यहाँ स्पस्ट कर देना चाहते है कि हमलोग,जात पात और राजनीति से परे शांति पूर्वक अपनी बात सरकार तक पहुचाने का प्रयास कर रहे है। इस प्रोग्राम मे बिहार प्रदेश सीनियर अध्यक्ष डॉ अलोक तिवारी, बिहार प्रदेश उपाध्यक्ष,डॉ धर्मेंद्र तिवारी,बिहार प्रदेश सचिव डॉ शशिभूषण पाठक,सहाबाद प्रमंडल से प्रवक्ता संतोष ओझा,उपाध्यक्ष डॉ सुभाष चौधरी, सचिव चंद्रशेखर जी,मगध प्रमंडल अध्यक्ष धनंजय जी,विद्यार्थी जी,सुरेंद्र जी,आफ़ताब जी,रोहतास अध्यक्ष अलोक सोनी जी,रामचंद्र जी,यशबीर जी,कैमूर जिला से बसंत जी,चन्दन जी,अनिल जी की मुख्या उपस्थिति रही।
Tags:

About The Author

Related Posts

Latest News