साली ने जीजा को दी मात

Sister-in-law beats brother-in-law

 साली ने जीजा को दी मात

hggजयपुर. राजस्थान में विधानसभा चुनाव के नतीजे आ गए हैं. बीजेपी ने स्पष्ट बहुमत से चुनावी दंगल जीत लिया है. इन चुनावों में कई बड़े उलटफेर के साथ ही कई रोचक मुकाबले भी सामने आए हैं. राजस्थान में एक सीट पर जहां पति ने अपनी पत्नी को ही हराया है वहीं एक सीट पर साली अपने जीजा पर भार पड़ी. वहीं सूबे में एक दामाद और सुसर को एक साथ विधायक बनने का सौभाग्य मिला तो एक पिता ऐसे भी हैं जिनके दो बेटे चुनाव मैदान में थे लेकिन दोनों ही हार गए.

सीकर जिले के दांतारामगढ से कांग्रेस प्रत्याशी वीरेंद्र सिंह ने चुनाव जीता है. उनके सामने जेजेपी से उनकी पत्नी रीटा सिंह चुनाव मैदान में थी. वीरेन्द्र सिंह ने अपनी पत्नी को हराया है. वीरेन्द्र सिंह गत बार भी कांग्रेस से चुनाव जीते थे. वे पीसीसी के पूर्व चीफ रहे नारायण सिंह के बेटे हैं. मारवाड़ इलाके के कांग्रेस के बड़े नेता रहे रिछपाल मिर्धा का एक बेटा विजयपाल मिर्धा डेगाना से और दूसरा बेटा खींवसर से कांग्रेस के सिंबल पर चुनाव मैदान में डटे हुए थे. लेकिन दोनों ही हार गए.
धौलपुर में साली ने जीजा को हराया
इससे बड़ा अजब मामला धौलपुर में सामने आया है. धौलपुर में कांग्रेस की शोभारानी कुशवाहा ने चुनावी मैदान में अपने सामने डटे बीजेपी प्रत्याशी जीजा शिवचरण कुशवाहा को हराया है. वहीं जयपुर की फुलेरा विधानसभा सीट से कांग्रेस सिंबल से जीते विद्याधर चौधरी के दामाद शैलेश सिंह बीजेपी की टिकट डीग कुम्हेर से जीतकर विधायक बने हैं.

हार के बाद अशोक गहलोत ने दिया इस्तीफा
राजस्थान में विधानसभा चुनावों के लिए 199 सीटों पर बीते 25 नंवबर को मतदान हुआ था. इन सीटों के घोषित परिणामों में बीजेपी को 115 और कांग्रेस को 70 सीटें मिली हैं. वहीं 14 सीटों पर निर्दलीय और अन्य उम्मीदवार चुनाव जीते हैं. विधानसभा चुनावों में हार के बाद अशोक गहलोत ने इस्तीफा दे दिया है. अब बीजेपी सरकार बनाने की कवायद में जुटी है.

Tags:

About The Author

Latest News