भाजपा-कांग्रेस के 80 स्टार प्रचारक हुए थे तय, पर सभी नेता मांग के अनुरूप नहीं कर सके सभाएं

भाजपा-कांग्रेस के 80 स्टार प्रचारक हुए थे तय, पर सभी नेता मांग के अनुरूप नहीं कर सके सभाएं

जयपुर। विधानसभा चुनाव में राष्ट्रीय राजनीतिक दलों की ओर से इस बार भी चालीस-चालीस स्टार प्रचारकों की सूची जारी की गई, लेकिन चुनाव में सभी स्टार प्रचारकों की सभा कराने को लेकर पार्टियों के पास मांग नहीं आई। इस चुनाव में भाजपा-कांग्रेस के 80 स्टार प्रचारकों में 20 नेताओं की सभाएं कराने के लिए उम्मीदवारों ने मांग की। इनमें केंद्रीय बड़े नेताओं के दौरे संगठन स्तर पर तय किए गए। वहीं राज्य स्तरीय नेताओं के दौरे प्रत्याशियों की मांग के अनुसार कराए गए, लेकिन ये नेता मांग के अनुसार सभी सीटों प्रचार के लिए नहीं पहुंच सके। ऐसे में इन्हें अपने प्रत्याशियों के समर्थन में वोट देने को लेकर अलग-अलग वीडियो तक जारी करने पड़े।

कांग्रेस ने 40 स्टार प्रचारकों की सूची में 27 केंद्रीय व अन्य प्रदेश के नेताओं के नाम शामिल किए थे, लेकिन क्षेत्र में इनमें से राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे के अलावा सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी, भूपेन्द्र हुड्डा, जिग्नेश मेवानी, कन्हैया कुमार की मांग रही। स्टार प्रचारकों की सूची में 13 राज्य स्तरीय नेता स्टार प्रचारक बनाए गए थे, लेकिन प्रदेश के स्टार प्रचारकों में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत सबसे ऊपर रहे। पार्टी के वॉर रूम के सूत्रों के मुताबिक 115 से 120 सीटों से गहलोत की सभा को लेकर उम्मीदवारों ने मांग की। इसी प्रकार दूसरे नंबर पर सचिन पायलट रहे। पायलट के लिए करीब 70 सीटों और प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा की 25 से 30 सीटों से मांग आई। लेकिन कोई भी नेता मांग वाली सभी जगहों पर समय की कमी के चलते चुनावी सभाएं नहीं कर सके।

भाजपा के 40 स्टार प्रचारकों की सूची में 23 केंद्रीय व अन्य प्रदेशों के वरिष्ठ नेता शामिल थे। इनमें से पांच केंद्रीय नेताओं की ज्यादा डिमांड रही। इनमें पीएम नरेन्द्र मोदी, अमित शाह, जेपी नड्डा, योगी आदित्यनाथ और असम के मुख्यमंत्री हेमंत बिश्व शर्मा शामिल हैं। इनमें भी मोदी, शाह और नड्डा ने सभाएं ज्यादा की। स्टार प्रचारकों की सूची में 17 राज्य स्तरीय नेता शामिल किए गए थे, लेकिन पांच नेताओं की मांग सबसे ज्यादा रही। इनमें पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, राजेन्द्र राठौड़, किरोड़ीलाल मीना, गजेन्द्र सिंह शेखावत और अर्जुनराम मेघवाल शामिल हैं। चुनाव प्रबंधन समिति को आई मांग के अनुसार राजे की करीब 110 विधानसभा क्षेत्र, किरोड़ीलाल और राजेन्द्र राठौड़ की करीब 30-30 विधानसभा क्षेत्र और केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेन्द्र सिंह व अर्जुन राम मेघवाल की करीब 25-25 विधानसभा सीटों से मांग आई। लेकिन, कोई भी नेता समय की कमी के चलते सभी सीटों पर जा नहीं सके।

Tags:

About The Author

Latest News

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज करेंगे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा शिलान्यास ::सौम्या माथुर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज करेंगे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा शिलान्यास ::सौम्या माथुर
अमृत स्टेशन योजना के तहत  554 रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास एवं 1500 रोड ओवर ब्रिज/अंडरपास का शिलान्यास/उद्‌द्घाटन/राष्ट्र को समर्पण रू....
सेब की फसल के लिए वरदान है बर्फबारी : मौसम वैज्ञानिक
उप्र में पछुआ हवाएं सर्दी को रखेंगी बरकरार, गिरेगा पारा
अयोध्या में बनारस की पूड़ी कचौड़ी और जलेबी का स्वाद चख सकेंगे रामभक्त, चलेगा भंडारा
मछुआरों के गांव सोलर लाइट एवं हाईमास्ट लाइट की रोशनी से जगमगाएगी योगी सरकार
फ्लीट दुर्घटना में घायल लोगों का हाल जानने पहुंचे मुख्यमंत्री योगी
लोकसभा चुनाव से पहले बुंदेलखंड क्षेत्र में एक लाख घरों तक जल पहुंचाने की तैयारी