जानिए वो बातें जो औरतों को कोई नहीं बताता

नॉर्मल डिलीवरी के बाद इस अंग को रखना होता है सूखा

जानिए वो बातें जो औरतों को कोई नहीं बताता

आमतौर पर डिलीवरी के बाद शरीर को ठीक होने में 6 से 8 हफ्तों का समय लगता है। वहीं सिजेरियन डिलीवरी में इससे ज्‍यादा समय भी लग सकता है। इस स़मय मांओं को अपने शरीर को रिकवर करने का समय देना होगा और इस समय उन्‍हें कुछ चुनौतियों का सामना करना पड़ता है जिनके बारे में आगे बताया गया है।

मां बनने के बाद हर औरत के सामने कुछ चुनौतियां और जिम्‍मेदारियां आती हैं। ज्‍यादातर लोग आपको इस बारे में ही बात करते हुए नजर आएंगे कि डिलीवरी के बाद क्‍या खाना चाहिए, बच्‍चे को कैसे दूध पिलाना है वगैरह-वगैरह। इस समय नई मांओं को अपना खुद का और बेबी की देखभाल करने के बादे में ज्‍यादातर लोग नहीं बताते हैं जो कि बहुत जरूरी है।

बच्चे के जन्म के बाद, योनि से ब्‍लीडिंग होना पूरी तरह से सामान्य है, जिसे लोचिया कहा जाता है। इस स्राव में रक्त, म्‍यूकस और गर्भाशय के ऊतक होते हैं और यह कई हफ्तों तक रह सकता है। संक्रमण को रोकने के लिए सैनिटरी पैड का उपयोग करना, टैम्पोन न लगाना और उन्हें नियमित रूप से बदलना आवश्यक है। यदि ब्लीडिंग ज्‍यादा या दुर्गंधयुक्त है, तो डॉक्टर से बात करें।

मदरहुड हॉस्पिटल से वरिष्ठ सलाहकार प्रसूति एवं स्त्री रोग विशेषज्ञ डॉ. तनवीर औजल कहते हैं कि गर्भावस्था और प्रसव से पेल्विक फ्लोर की मांसपेशियां कमजोर हो सकती हैं, जिससे असंयम जैसी समस्याएं हो सकती हैं। पेल्विक फ्लोर एक्‍सरसाइज करना, जिसे अक्सर कीगल एक्‍सरसाइज कहा जाता है, इन मांसपेशियों को मजबूत करने और तेजी से रिकवरी को बढ़ावा देने में मदद कर सकता है।

Tags:

About The Author

Tarunmitra Picture

‘तरुणमित्र’ श्रम ही आधार, सिर्फ खबरों से सरोकार। के तर्ज पर प्रकाशित होने वाला ऐसा समचाार पत्र है जो वर्ष 1978 में पूर्वी उत्तर प्रदेश के जौनपुर जैसे सुविधाविहीन शहर से स्व0 समूह सम्पादक कैलाशनाथ के श्रम के बदौलत प्रकाशित होकर आज पांच प्रदेश (उत्तर प्रदेश, बिहार, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और उत्तराखण्ड) तक अपनी पहुंच बना चुका है। 

Latest News

चोरी से देव स्थान से पेड़ काटने वालों पर कार्यवाही न होने से ग्रामीणों में आक्रोश  चोरी से देव स्थान से पेड़ काटने वालों पर कार्यवाही न होने से ग्रामीणों में आक्रोश 
भेलसर- अयोध्या। पटरंगा थाना क्षेत्र ग्राम पंचायत सरैठा में लगभग एक सप्ताह पूर्व गांव की सुरक्षित भूमि पर बाबा ख़र्चन...
डीएम ने फाइलेरिया की दवा का किया सेवन
पंचकोसी परिक्रमा मार्ग के शहर वाले हिस्से का निर्माण कार्य आगामी रामनवमी से पूर्व कर लिया जाय:मण्डलायुक्त
एकीकृत बागवानी विकास योजना के अन्तर्गत दो दिवसीय कृषक प्रशिक्षण का किया गया आयोजन 
पुलिस ने अवैध गांजा समेत तीन अभियुक्त पकड़े
संस्कृति मंत्रालय भारत सरकार द्वारा दिव्य रामलीला कार्यक्रम का हुआ आयोजन
#Draft: Add Your Title