शशिकला को जेल में वीआईपी सुविधा मिलने का खुलासा ​किया तो हो गया तबादला

बेंगलुरु। एआईएडीएमके महासचिव वी.के शशिकला से पंगा लेना बेंगलुरु की डीआईजी रुपा को महंगा पड़ा है। दरअसल राज्य सरकार ने डीआईजी रुपा का तबादला कर दिया है। बता दें कि डीआईजी रुपा ने ही शशिकला को जेल में मिलने वाली वीआईपी सुविधाओं का खुलासा किया था। जिस पर काफी बवाल मचा था।

बता दें कि हाल ही में डीआईजी रूपा ने गृह मंत्रालय और बेंगलुरु सेंट्रल जेल के डीजीपी एच.एन. सत्यनारायण राव को एक रिपोर्ट भेजी थी। इस रिपोर्ट में डीआईजी रुपा ने आरोप लगाया था कि “2 करोड़ रुपए की रिश्वत के बदले में शशिकला को जेल में वीआईपी सुविधाएं दी जा रही हैं।” रिपोर्ट के मुताबिक “शशिकला को खाना बनाने के लिए एक रसोईया मिला हुआ है और लोगों से मिलने की भी छूट है।”

डीआईजी ने बेंगलुरु सेंट्रल जेल के डीजीपी सत्यनारायण को रिश्वत लेने का आरोपी बताया था। हालांकि रिपोर्ट पर बवाल होने के बाद डीजीपी सत्यनारायण ने सफाई देते हुए कहा था कि “उन्होंने कोई रिश्वत नहीं ली है, और शशिकला को जेल में कोई वीआईपी सुविधाएं नहीं दी जा रही। उन्हें अन्य कैदियों की तरह ही जेल में रखा गया है।”

हीं मामले के खुलासे के बाद सीएम सिद्धरमैय्या ने मामले की जांच के आदेश दे दिए हैं। हालांकि उन्होंने इस बात पर भी नाराजगी जतायी कि डीआईजी रुपा ने यह बात सरकार को बताने से पहले मीडिया को बतायी। वहीं इस मुद्दे पर विपक्षी पार्टियों ने राज्य सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

वहीं खबर मिली है कि आज ही डीआईजी रुपा और 4 अन्य अफसरों का तबादला कर दिया गया है। डीआईजी रुपा को फिलहाल ट्रैफिक पुलिस डिपार्टमेंट में भेजा गया है।

=>
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

E-Paper