( bow and arrow)
( bow and arrow)

क्या निकले एकनाथ शिंदे को मिल जायेगा धनुष-बाण’ ( bow and arrow)?

मुंबई -महाराष्ट्र में कैबिनेट विस्तार की चर्चाओं के बीच ‘धनुष बाण’ ( bow and arrow) की लड़ाई भी तेज होती जा रही है। खबर है कि मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने भारत निर्वाचन आयोग में संबंधित दस्तावेज जमा करा दिए हैं। वहीं, राज्य के पूर्व सीएम उद्धव ठाकरे ने दस्तावेज जमा करने के लिए आयोग से चार सप्ताह का समय मांगा है। महाराष्ट्र में मंगलवार को कैबिनेट विस्तार होने जा रहा है।

शिंदे गुट की ने धनुष बाण चुनाव चिह्न पर दावा पेश किया है और EC के सामने दस्तावेज पेश कर दिए हैं। पार्टी में बगावत के बाद शिंदे ने जून में भारतीय जनता पार्टी के साथ मिलकर महाराष्ट्र में सरकार बना ली थी। तब उन्होंने आयोग को पत्र लिखकर धनुष बाण चिह्न उन्हें आवंटित करने की मांग की थी। इसे लेकर गुट ने लोकसभा और राज्य की विधानसभा में मिली मान्यता का हवाला दिया था।

उस दौरान चुनाव आयोग ने दोनों पक्षों से विधायी और संगठन विंग्स की तरफ से समर्थन पत्र समेत दस्तावेज 8 अगस्त तक जमा करने के लिए कहा था। ECI के अनुसार, इलेक्शन सिंबल (रिजर्वेशन एंड अलॉटमेंट) ऑर्डर 1968 के पैराग्राफ 15 की तर्ज पर ये मांगें की गईं थीं।

उद्धव चाहें और समय
उद्धव के नेतृत्व वाली शिवसेना ने आयोग से समय विस्तार की मांग की है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘एपेक्स कोर्ट की टिप्पणियों और निर्देशों के आधार पर हमने आयोग से सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने तक शिंदे गुट की याचिका पर कोई फैसला नहीं देने का अनुरोध किया है।’

See also  उद्धव ठाकरे ने हाल ही में अर्जुन खोतकर को बनाया था शिवसेना का उपनेता

कोर्ट ने इससे पहले चुनाव आयोग को मामला विचाराधीन होने के चलते इसे आगे नहीं बढ़ाने के लिए कहा था। 4 अगस्त को सुप्रीम कोर्ट ने आयोग से शिंदे गुट की याचिका पर तत्काल कार्रवाई नहीं करने के लिए कहा था, जिसमें उन्हें असली शिवसेना मानने और पार्टी का चुनाव चिह्न धनुष बाण देने की मांग की गई थी।