विधवा महिला ने बिजली चोरी के झूठे आरोप में फसाए जाने को ले पटना आयुक्त से लगाई गुहार

मधुबनी। बिजली चोरी के झूठे आरोप में फंसाए जाने से बचाए जाने के लिए असहाय एक अबला महिला ने जिला पदाधिकारी से लेकर रोहतास एसपी को भी प्रार्थना पत्र भेज कर न्याय की गुहार लगाई। लेकिन, अधिकारी द्वारा अब तक कोई जांच नही करायी गयी। महिला ने आयुक्त पटना प्रमंडल को पार्थना पत्र भेजकर न्याय की गुहार लगाई।

पटना आयुक्त ने रोहतास जिला पदाधिकारी को बाकयदा लेटर के माध्यम से जांच कराने का निर्देश दिया है। संझौली निवासी अनिता कुंवर ने बतया कि मेरे द्वारा विद्युत कनेक्शन 1 जनवरी 2012, खाता संख्या- BRGSNJ0909 उपभोक्तता स़ख्या-22360000227, फीडर संझौली टाऊन के संदर्भ में विद्युत आपूर्ति प्रशाखा, संझौली अन्तर्गत कनीय अभियंता दीपक कुमार के द्वारा 15 दिसम्बर 2021 को बिजली गुणवत्ता सुधार योजना के तहत छापेमारी के दौरान बिना जांचे-परखे उक्त प्रकरण में टोका फंसा बिजली चोरी का झूठा आरोप लगाते हुए मेरे ऊपर संझौली थाना में एफआईआर दर्ज कराते हुए मुझे अभियुक्त बना दिया गया है।

साथ ही साथ 37, 328 (सैंतीस हजार तीन सौ अठाईस) रुपये का आर्थिक दंड लगा दिया गया।जबकि कथित उक्त छापेमारी के समय मैं बिजली उपयोग हेतु वैध रुप से उपभोक्ता रही। कनेक्शन 2012 से 2018 तक मेरे ऊपर बिजली बकाया राशि लगभग 20 हजार हो गया था, जिसके मद्देनजर विभाग के द्वारा मेरे घर लगे मीटर को उखाड़ जप्त करते हुए विद्युत विच्छेदन 20 जनवरी 2018 में किया गया था, जहां पूर्ण बकाया राशि में मेरे द्वारा सात हजार रुपये 18 मई 2018 को जमा किया गया। और आर०सी०/डी०सी० शुल्क मद में दो सौ छत्तीस रुपये जमा कर अपना बिजली आपूर्ति चालू करवाया। वही, विभाग के द्वारा जप्त किया हुआ मेरा मीटर आज तक वापस नहीं किया गया है।

असहाय, निर्धन, विधवा महिला प्रार्थना पत्र देकर अपने से सम्बन्धित उक्त प्रकरण में निष्पक्ष जांच करने व सम्बन्धित दोषियों पर कार्रवाई करने का उक्त प्रकरण में झूठा फंसाए जाने से बचाए जाने का अनुरोध पत्र भेजकर न्याय की गुहार लगाई है। एक अबला महिला जाति का मामला है, इस मामले को देखने और जल्द से जल्द आवश्यक कर्रवाई करने का अनुरोध की है। साथ ही जब-तक उक्त प्रकरण में निष्पक्ष जांच नहीं होता, तब-तक संझौली थाना को मेरे ऊपर अग्रेत्तर कर्रवाई करने से रोका जाए। अधिकारी से अनुरोध किया है कि मेरे ऊपर थोपे गये आर्थिक संकट को ध्यान में रखकर अति शीघ्र से शीघ्र जांच कराते हुए सम्बन्धित दोषियों पर कार्रवाई की जाए और इस आर्थिक संकट से मेरे जैसे विधवा असहाय एक निर्धन महिला को परिवार सहित बचाया जाए।

See also  शराब मामले में कुल 11 लोगों को गिरफ्तार