पंचायत चुनाव में ग्राम पंचायत सदस्य के लिए मतपत्र काले रंग से, मुखिया के हरे रंग से

पंसस के नीले रंग से तथा जिप सदस्य का मतपत्र लाल रंग से छपवाया जाएगा

4 पदों के लिए मतपत्र की छपाई जिला स्तर पर तथा पंच एवं सरपंच पद के लिए मतपत्र की छपाई कोलकाता में होगी

दरभंगा। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में विभिन्न पदों के लिए उजले मतपत्र पर अलग – अलग रंग से मतपत्र छपवाया जाएगा। ग्राम पंचायत सदस्य के लिए मतपत्र – काले रंग से, मुखिया पद का मतपत्र – हरे रंग से, पंसस का मतपत्र नीले रंग से तथा जिप सदस्य का मतपत्र लाल रंग से मुद्रित करवाया जाएगा। 4 पदों के लिए चुनाव ईवीएम से तथा पंच एवं सरपंच पद के लिए चुनाव मतपत्र से करवाया जाएगा। यह जानकारी डीपीआरओ आलोक राज ने गुरुवार को डीएम डॉ. त्यागराजन एस एम के कार्यालय कक्ष में पंचायत चुनाव की तैयारी को लेकर हुई बैठक में कही। उन्होंने कहा कि 4 पदों के लिए मतपत्र की छपाई जिला स्तर पर तथा पंच एवं सरपंच पद के लिए मतपत्र की छपाई सरस्वती प्रेस कोलकाता से करायी जाएगी।

 

जिला स्तर पर जिस प्रेस में मतपत्र की छपाई होगी उसे अधिग्रहण किया जाएगा तथा सरस्वती प्रेस से मतपत्र छपवाने के लिए प्रखंडवार एआरओ को प्रतिनियुक्त किया जाएगा। इसके लिए मतपत्र कोषांग के नोडल पदाधिकारी को सभी बीडीओ से सहायक निर्वाची पदाधिकारी की सूची प्राप्त कर लेने का निर्देश दिए। मतपत्र छपाई की निगरानी एवं अनुश्रवण के लिए एक वरीय पदाधिकारी को कोलकाता में ही प्रतिनियुक्त रखा जाएगा। चुनाव के दौरान मतदाताओं की सुविधा के लिए अलग-अलग पद के लिए अलग-अलग वोटिंग कंपार्टमेंट बनाया जाएगा तथा अलग-अलग पद के लिए अलग-अलग रंग के कार्ड बोर्ड पर अलग-अलग रंग से लिखावट होगी।

ग्राम पंचायत सदस्य के लिए काला रंग के कार्ड बोर्ड पर उजले रंग से, मुखिया पद के लिए हरा रंग के कार्डबोर्ड पर काला रंग से, पंसस के लिए नीले रंग के कार्ड बोर्ड पर लाल रंग से, जिला परिषद सदस्य के लिए लाल रंग के कार्डबोर्ड पर काला रंग से, तथा पंच एवं सरपंच के लिए आधा कत्थई एवं आधा पीला रंग के कार्ड बोर्ड पर काला रंग से लिखा रहेगा। मतगणना के लिए बाजार समिति में बज्रगृह एवं मतगणना हॉल का निर्माण करवाने का सुझाव दिया गया। साथ ही प्रत्येक पद के लिए एक मतगणना हॉल बनाने, अलग-अलग पदों की मतगणना अलग-अलग हॉल में करने तथा पोल्ड ईवीएम एवं मतपेटिका को बज्रगृह में मतदान केन्द्रवार अलग-अलग पद के लिए अलग-अलग खाना बनाकर रखने की बात अधिकारियों ने कही।

See also  सरकार ने की थी लोकतंत्र की हत्या

ताकि ईवीएम एवं मतपेटिका जमा कराने के दौरान कठिनाई न हो सके। साथ ही मतगणना के दौरान मतदान केन्द्रवार ईवीएम आसानी से मतगणना टेबल पर उपलब्ध कराया जा सके। बैठक में सुझाव दिया गया कि अलग-अलग पद के लिए निर्धारित अलग-अलग रंग से लिखावट वाले मतपत्र के अनुसार ही बज्रगृह से मतगणना हॉल में ईवीएम ले जाने वाले कर्मी की वर्दी बनवाए ताकि अलग से पहचान में आ सके कि किस पद के लिए ईवीएम ले जाया जा रहा है और वह सही हॉल में जा रहा है या नहीं। बैठक में एडीएम राजस्व विभूति रंजन चौधरी, उप निदेशक जन सम्पर्क नागेन्द्र कुमार गुप्ता, विशेष कार्य पदाधिकारी अजय कुमार, डीएलओ अजय कुमार, डीपीआरओ आलोक राज, उप निर्वाचन पदाधिकारी पुष्कर कुमार आदि मौजूद थे।