जातिवाद को समाज के लिए सबसे घातक समस्या मानते थे चौधरी चरण सिंह

जातिवाद को समाज के लिए सबसे घातक समस्या मानते थे चौधरी चरण सिंह

गाजियाबाद। विभिन्न राजनीतिक दलों ने शनिवार को पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की जयंती पर मेरठ मोड़ नया बस अड्डा स्थित चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा एवं अन्य स्थानों पर माल्यार्पण कर उन्हें नमन किया।भाजपा के महानगर अध्यक्ष संजीव शर्मा के नेतृत्व में तमाम भाजपा कार्यकर्ता मेरठ रोड पर एकत्र हुए तथा उनकी प्रतिमा पर माल्यापर्ण किया। इस अवसर पर संजीव शर्मा ने कहा कि चौधरी चरण सिंह ने जमींदारी प्रथा को समाप्त किया। उन्होंने किसानों के लिए जो कार्य किया, वह भुलाया नहीं जा सकता। चौधरी चरण सिंह जैसे व्यक्ति कम ही जन्म लेते हैं।

उन्होंने हमेशा कमजोरों का साथ दिया। किसानों की समस्याओं के निदान के लिए वह हमेशा आगे रहते थे। किसान मोर्चा अध्यक्ष पंकज भारद्वाज ने कहा कि चौधरी साहब ने हमेशा गरीबों, मजदूरों और किसानों के लिए काम किया है। वह किसानों के मसीहा थे, उनके आदर्शों पर चलकर देश को आगे बढ़ना है।इस दौरान पूर्व महानगर अध्यक्ष अमर दत्त शर्मा, महानगर महामंत्री पप्पू पहलवान, किसान मोर्चा महानगर अध्यक्ष पंकज भारद्वाज, मीडिया संयोजक प्रदीप चौधरी सहित सैकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे।मेरठ रोड स्थित राष्ट्रीय लोकदल कार्यालय पर चौधरी चरण सिंह की 121वीं जयंती मनाई गई।

चौधरी चरण सिंह जी की प्रतिमा पर फूल माला पहना कर उनको याद किया गया। जिला एवं महानगर संगठन द्वारा हवन करा कर चौधरी चरण सिंह को श्रद्धांजलि दी गई। इसमें प्रमुख रूप से जिला अध्यक्ष अमित त्यागी, महानगर अध्यक्ष रेखा चौधरी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ इंद्रजीत सिंह टीटू, प्रदेश महासचिव रविंद्र चौहान समेत कई प्रमुख पदाधिकारी मौजूद रहे।चित्तौड़ा गांव में मूर्ति पर हवन और माला अर्पण कर चौधरी चरण सिंह की जयंती धूमधाम से मनायी गयी। उपस्थित लोगों ने चौधरी चरण सिंह के कृषि क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान की चर्चा की।

उनकी मूर्ति के सामने ग्रामीण एवं रालोद कार्यकर्ताओं ने सामूहिक रूप से इकट्ठा होकर उनको आदर्श मानते हुए उनकी नीतियों पर चलने का संकल्प लिया। चेयरमैन अमरजीत सिंह बिड्डी ने कहा कि व्यक्ति नहीं विचारधारा का नाम है चौधरी चरण सिंह। उन्होंने कहा कि चौधरी साहब जातिवाद को भारतीय समाज के लिए सबसे घातक समस्या मानते थे। हमें उनके आदर्शों को मानते हुए, उनके मूल्यों को बढ़ावा देकर उनके पद चिह्नों पर चलना चाहिए। सभी ने अपने विचार रखे। इस अवसर पर चेयरमैन अमरजीत सिंह बिड्डी के साथ प्रदेश अध्यक्ष सहकारिता प्रकोष्ठ प्रदीप मुखिया आदि मौजूद रहे।

Tags: Ghaziabad

About The Author

Latest News