शत-प्रतिशत किसान क्रेडिट कार्ड बनाने के लिए सघन अभियान जारी

शत-प्रतिशत किसान क्रेडिट कार्ड बनाने के लिए सघन अभियान जारी

जगदलपुर। कलेक्टर विजय दयाराम के निर्देशानुसार बस्तर जिले के राजस्व और वनाधिकार पट्टाधारी कृषकों का चिन्हाकन कर शत-प्रतिशत किसान केडिट कार्ड तैयार करने के लिए सघन अभियान चलाया जा रहा है। इस दिशा में जिले के सभी आदिम जाति सेवा सहकारी समित्ति मर्यादित यथा लैम्पस में कृषकों का केसीसी प्रकरण तैयार किया जा रहा है। कृषि एवं उद्यानिकी, मत्स्यपालन, पशुपालन इत्यादि आनुषांगिक विभागों द्वारा लक्षित कृषकों का चिन्हाकन कर दस्तावेजों का परीक्षण करते हुए प्रकरण तैयार कर लैम्पसों में जमा किया जा रहा है, जहां से बैंकों एवं लैम्पसों द्वारा जमा किए प्रकरणों का केसीसी तैयार किये जाने की कार्यवाही की जा रही है।

उपसंचालक कृषि से मिली जानकारी के अनुसार जिले के वे सभी कृषक जिनके पास खेतीयुक्त जमीन हो और जिनकी आयु 18 वर्ष है वे केसीसी हेतु आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करने के लिए किसान को शिविर में अपना आधार कार्ड, नक्शा, खसरा, बी-1, पासपोर्ट साईज फोटो, बैंक खाता की पासबुक लाना अनिवार्य है। सहकारी बैंक में किसान क्रेडिट कार्ड बनवाने हेतु 105 रुपये सदस्यता शुल्क जमा कर समिति का सदस्यता लेना होगा। किसान क्रेडिट कार्ड के द्वारा किसान सहकारी साख समितियों के माध्यम से अपनी खेती के लिए खाद, बीज और नगद राशि बिना किसी ब्याज के प्राप्त कर सकते हैं और फसल उत्पादन के बाद यह ऋण बिना किसी ब्याज के जमा किया जा सकता है। इसके साथ ही साग-सब्जी उत्पादन, उद्यानिकी फसलों की खेती, मत्स्यपालन, पशुपालन के लिए भी किसान क्रेडिट कार्ड प्रदाय किया जा रहा है। उपसंचालक कृषि राजीव श्रीवास्तव ने बताया कि वर्तमान में ग्राम पंचायत स्तर पर आयोजित विकसित भारत संकल्प यात्रा शिविरों में किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड प्रदान किये जाने पहल किया जा रहा है। उन्होंने कृषकों से अपील किया है कि अधिक से अधिक संख्या में आदिम जाति सेवा सहकारी समिति मर्यादित तथा विकसित भारत संकल्प यात्रा शिविरों में उपस्थित होकर किसान केडिट कार्ड से लाभान्वित हो सकते हैं।


 

Tags:

About The Author

Latest News