मरे हुए लोगों के साथ भी हो रहा अन्याय : डॉ. बी पी त्यागी

( तरूणमित्र ) गाजियाबाद।

मरे हुए लोगों के साथ भी हो रहा अन्याय : डॉ. बी पी त्यागी

गाजियाबाद ही नहीं बल्कि विदेशों में भी ख्याति प्राप्त करने वाले ईएनटी सर्जन प्रोफेसर डाॅक्टर बीपी त्यागी जोकि वर्तमान में राष्ट्रीय जनसत्ता दल के चिकित्सा प्रकोष्ठ के प्रभारी हैं आज तरूणमित्र से बात करते हुए डाॅ. त्यागी ने आरोप लगाया है कि गाजियाबाद में सरकारी अस्पताल के हालात बद से बदतर हैं, उन्होंने कहा कि यहां तो मरे हुए लोगों को भी न्याय नहीं मिल पा रहा है। उन्होंने साफगोई के साथ कहा कि इसका मेन कारण गाजियाचाद के सरकारी अस्पताल में पोस्ट मार्टम एक्सपर्ट का ना होना है। डॉ. बीपी त्यागी ने कहा कि नियम के अनुसार फॉरेंसिक मेडिसिन में पोस्ट ग्रेजुएट ही पोस्टमार्टम कर सकता है, मगर गाजियाबाद में ऐसा नहीं हो रहा है। उनका मानना है कि क्या पुलिस प्रशासन व जुडिशियरी इस मामले को उठाएगी। हर रोज यह देखा जाता है कि गाजियाबाद के सरकारी हॉस्पिटल में आज ईएनटी, आई, फिजिशियन, ग्यानिकोलॉजिस्ट या ऑर्थो, पोस्ट मार्टम ड्यूटी पर हैं। नियम के अनुसार उनकी पोस्ट मार्टम रिपोर्ट नहीं मानी जाएगी। इसके लिए अलग से एक ही फाॅरेंसिक मेडिसिन का डिपार्टमेंट होता है जो हर मेडिकल कॉलेज में होता है। सिर्फ उन्हीं की पोस्ट मार्टम रिपोर्ट न्यायालय को माननी चाहिये और वही रिपोर्ट पुलिस डिपार्टमेंट को भी माँगनी चाहिये। लेकिन गाजियाबाद में सब पोस्ट मार्टम दूसरी स्पेशलिटी के डॉक्टर कर रहे हैं और वह सब जगह मान्य है, जो अपने आप में बहुतेरे सबाल खड़े करने के लिए काफी है, और यह नियम के विरुद्ध है सरासर गलत है क्या इस पर कोई नियम कानून नहीं है क्या उच्च अधिकारियों को संज्ञान नहीं लेना चाहिए। उन्होंने कहा कि सरकारी अमले की अनदेखी को कौन नहीं जानता है, परन्तु हर व्यक्ति इन बातों से कहीं न कहीं बेखबर है या फिर यह कहा जाए कि लोग इस ओर ध्यान नहीं देते या फिर जानकारी न होने की वजह है और इसीलिए जमकर मनमानी भी हो रही है।

Tags:

About The Author

Latest News