खैर व जट्टारी में बाईपास की कवायद शुरू एनएच ने 52 गांवों की मांगी सत्यापन रिपोर्ट

खैर व जट्टारी में बाईपास की कवायद शुरू एनएच ने 52 गांवों की मांगी सत्यापन रिपोर्ट

अलीगढ़/खैर। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने खैर व जट्टारी में बाईपास के लिए कवायद शुरू कर दी है। खैर व जट्टारी में प्रस्तावित तीस किलोमीटर लम्बे बाईपास के बीच में आने वाले गांवों की भूमि का अधिग्रहण किए जाने से पूर्व एनएच ने एसडीएम खैर, गभाना व कोल को पत्र भेजकर खैर, टप्पल, गभाना व कोल के 52 गांवों का सत्यापन कराए जाने को कहा है।
   बता दें कि काफी समय से खैर व जट्टारी में बाईपास बनवाए जाने के लिए मांग की जा रही थी। कई बार खैर विधायक व अलीगढ सांसद ने जनहित में मुख्यमंत्री व केन्द्रीय सडक परिवहन मंत्री से बाईपास के लिए गुहार लगाई थी। शासन के निर्देश पर भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण ने बाईपास के लिए पहल शुरू कर दी है। एनएच के परियोजना निदेशक पीके कौशिक ने एसडीएम को पत्र भेजकर खैर के अंडला, चौधाना, पीपल गांव, अर्राना, नयावास, जरारा, रसूलपुर, ऐंचना, उदयगढी, बामौती, लक्ष्मणगढी,  मऊ, बांकनेर, धर्मपुर, नगला अस्सू, इतवारपुर, बिचपुरी, खेडिया बुजुर्ग, बुलाकीपुर, राजपुर, बझेडा, चमन नगलिया, रेसरी, गनेशपुर, दमुआका, उसरह रसूलपुर, नांगल कलां, सोतीपुरा, फाजिलपुर कलां, नागल खुर्द, खण्डेहा, टप्पल, आदमपुर, स्यारौल, डोरपुरी, हामिदपुर, रायपुर, घरबरा, पीपली आदि गांवों की भूमि के गाटा नम्बरों का सत्यापन कराए जाने को कहा है। एसडीएम खैर के निर्देश पर राजस्व टीम सम्बन्धित गांवों की भूमि का सत्यापन करने को जुटी हुई है। तहसीलदार रामगोपाल सिंह ने बताया कि भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग सं0 334 डी, अलीगढ पलवल रोड के चौडीकरण/बाईपास के निर्माण हेतु प्रभावित गांवों के नामों का सत्यापन मांगा गया है। सम्बन्धित गांवों के लेखपाल सत्यापन के कार्य में जुटे हुए है।

Tags:

About The Author

Latest News