सोन नदी में आबादी बढ़ाने चम्बल का वयस्क घड़ियाल जायेगा

सोन नदी में आबादी बढ़ाने चम्बल का वयस्क घड़ियाल जायेगा

मुरैना। सोन नदी में संख्या वृद्धि के लिये चम्बल नदी से नर घड़ियाल शीघ्र भेजे जाने की तैयारी की जा रही है। इसके लिये भारत सरकार के वन पर्यावरण मंत्रालय की स्वीकृति पश्चात संजय नेशनल पार्क के 11 सदस्यीय दल ने चम्बल का भ्रमण किया है। चम्बल नदी से वयस्क नर घड़ियाल को पकडऩे के लिये घड़ियाल अभ्यारण्य का दल शीघ्र ही कार्यवाही आरंभ करेगा। भारतीय प्रजाती के विलुप्त प्राय: जलीय जीव घडिय़ाल की संख्या देश की प्रदूषण मुक्त नदियों में बढ़ाने के प्रयास किये जा रहे हैं। इसके तहत मध्यप्रदेश की सोन नदी में घडिय़ाल संख्या वृद्धि के लिये पूर्व में भी एक नर घडियाल भेजा गया था। दिसंबर 2021 में भेजे गये इस घडियाल से मादा घडिय़ालों ने 138 शावकों को जन्म दिया। लेकिन बीते वर्षा मौसम के अनुसार यह नर घडियाल सोन नदी में आई बाढ़ में बहकर चला गया। इसकी खोज के दौरान यह बिहार में विचरण करता हुआ मिला। वहां की सरकार ने मध्यप्रदेश को घडिय़ाल वापस करने से इन्कार कर दिया।

इस पर संजय नेशनल पार्क द्वारा भारत सरकार से एक और नर घडिय़ाल की मांग की थी। इसमें यह शर्त लगाई गई है कि नर घडियाल चम्बल नदी में विचरण करने वाला होकर पूर्ण वयस्क हो। घडियाल की लम्बाई 12 से 15 फुट होना बताया गया है। यह नदी में आई बाढ़ से स्वयं को सुरक्षित कर सके। इसकी स्वीकृति मिलने पर संजय नेशनल पार्क के 11 सदस्यीय दल द्वारा चम्बल नदी में विचरण करने वाले नर घडियालों का अवलोकन किया है। चम्बल घडिय़ाल अभ्यारण्य से यह घडिय़ाल दिसंबर के दूसरे सप्ताह में पकडक़र सोन नदी में विचरण के लिये छोड़ा जायेगा। हालांकि इस संबंध में राष्ट्रीय चम्बल घडिय़ाल अभ्यारण्य के अधिकारी कुछ भी कहने से बच रहे हैं।

Tags:

About The Author

Latest News

महकालेश्वर मंदिर में शिव नवरात्रि पर्व प्रारंभ महकालेश्वर मंदिर में शिव नवरात्रि पर्व प्रारंभ
उज्जैन। ज्योतिर्लिंग भगवान महाकालेश्वर के मन्दिर में गुरुवार से शिव नवरात्रि का पर्व प्रारंभ हो गया है। मंदिर समिति के...
संदेशखाली के आरोपी शाहजहां को फांसी देने की मांग को लेकर महिलाओं ने किया प्रदर्शन
 डिंडोरी में भीषण सड़क हादसा, पिकअप पलटने से 14 लोगों की मौत
सहायिका से चयनित आंगनबाड़ी कार्यकत्रियों को मिला नियुक्ति प्रमाण पत्र
इस साल का 366वां दिन आज, चार साल के इंतजार के बाद आया यह दिन
प्रधानमंत्री मोदी आज करेंगे विश्व की पहली 'वैदिक घड़ी' का उद्घाटन
बागी विधायकों की सदस्यता रद्द करने का निर्णय स्वागत योग्य : कांग्रेस