असमय बिल मिलने व गलत रीडिंग की शिकायतें होंगी खत्म

उर्जा मंत्री ने ट्रस्ट बिलिंग व्यवस्था की शुरूआत की, कन्ज्यूमर ऐप किया लॉन्च

असमय बिल मिलने व गलत रीडिंग की शिकायतें होंगी खत्म

  • सेल्फ बिल जनरेशन के तहत घरेलू और वाणिज्यिक श्रेणी के उपभोक्ताओं को राहत

लखनऊ। प्रदेश के ऊर्जा मंत्री एके ने रविवार को एक ऐतिहासिक निर्णय लेते हुए विद्युत उपभोक्ताओं को बिलिंग संबंधी समस्याओं व शिकायतों से हमेशा के लिए निजात दिलाने तथा मीटर रीडर द्वारा की जा रही गलत रीडिंग और गलत बिलिंग संबंधी शिकायतों से बचाने के लिए उपभोक्ताओ को ट्रस्ट बिलिंग की सुविधा प्रदान की है। इससे उपभोक्ताओं को बिलिंग की एक आसान व्यवस्था मिलेगी, जिससे वह अपने घर बैठे ही स्वयं अपना बिल जनरेट कर सकेंगे और बिल भी प्राप्त कर सकेंगे। इस व्यवस्था से उन्हें अनावश्यक भागदौड़ से मुक्ति मिलेगी। उन्होंने कहा कि उपभोक्ताओं को बेहतर सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए, ऊर्जा विभाग उपभोक्ता हित में कार्य कर रहा है। प्रदेश के 3.28 करोड़ उपभोक्तों को सहज ओर सरल ढंग से सुविधायें उपलब्ध हो। एक शर्मा ने रविवार को जल निगम के फील्ड हॉस्टल 'संगम', लखनऊ में उपभोक्ताओं को दी जाने वाली "ट्रस्ट बिलिंग" की व्यवस्था की शुरूआत की तथा कन्ज्यूमर ऐप की लांचिंग की।

मंत्री ने बताया कि ट्रस्ट बिलिंग के तहत सेल्फ बिल जनरेशन की सुविधा घरेलू और वाणिज्यिक श्रेणी के 09 किलोवाट भार तक के उपभोक्ता को दी जायेगी। ऐसे उपभोक्ता अब घर बैठे अपना स्वयं का बिल जनरेट कर सकेंगे। इसके लिए उन्हें- यूपीपीसीएल की वेबसाइट पर लॉगिन करना होगा। कंज्यूमर कॉर्नर में जाकर "सेल्फ बिल जनरेशन" को क्लिक व लॉगिन कर रजिस्टर्ड करना होगा और इसमें अपने विद्युत कनेक्शन के खाता संबंधी विवरण को दर्ज कर वर्तमान मीटर रीडिंग के साथ पिछले महीने की डिमांड रीडिंग को भी दर्ज करना होगा।

उपरोक्त किसी भी तकनीकी विकल्प की पूरी प्रक्रिया को अपनाने के बाद 24 से 48 घंटे में उपभोक्ता का बिल जनरेट हो जाएगा। इसके पश्चात उपभोक्ता के रजिस्टर्ड ई-मेल या उसके दर्ज मोबाइल नंबर पर ई-मेल या एसएमएस के माध्यम से बिल की सम्पूर्ण जानकारी मिल जाएगी। साथ ही उपभोक्ता उत्तर प्रदेश पॉवर कारपोरेशन की उपरोक्त वेबसाइट या एप पर लॉगिन कर अपना बिल डाउनलोड/प्रिंट कर सकेंगे। वहीं नए उपभोक्ताओं को इस व्यवस्था का लाभ लेने के लिये सर्वप्रथम अपने नजदीकी विद्युत कार्यालय या बिलिंग काउंटर से बिल को जनरेट करवाना होगा।

नये उपभोक्ताओं के बिल की प्रक्रिया एक बार शुरू हो जाने के पश्चात दूसरी बार वे स्वयं ही अपना बिल जनरेट कर सकेंगे। आगे बताया कि उपभोक्ता द्वारा मीटर रीडिंग देने के 48 घंटे बाद भी बिल जेनरेट न होने पर उपभोक्ता संबंधित एसडीओ व अधिशासी अभियंता से संपर्क कर सकेगें या यूपीपीसीएल के हेल्पलाइन नंबर 1912 पर भी कॉल कर इसकी शिकायत कर सकते हैं। कहा कि टोल फ्री नम्बर 1912 एवं विभाग की सोशल मीडिया की क्षमता को बढ़ाते हुए उसे और सक्षम बनाया गया है। यूपीपीसीएल चेयरमैन डॉ. आशीष कुमार गोयल ने कहा कि इस नई व्यवस्था से 3.28 करोड़ उपभोक्तों को अपने बिलों के भुगतान में आसानी होगी और वे समय पर अपना बिल जमा कर सकेंगे।

Tags: lucknow

About The Author

Latest News

शोधपूर्ण मंथन से और प्रगाढ़ होंगे भारत-नेपाल के सांस्कृतिक अंतर्संबंध*: शोधपूर्ण मंथन से और प्रगाढ़ होंगे भारत-नेपाल के सांस्कृतिक अंतर्संबंध*:
नेपाल से आएंगे करीब तीन दर्जन विद्वान, इससे अधिक ऑनलाईन जुड़ेंगे*
लोजपा जिलाध्यक्ष का कार्यकर्ताओं ने किया भव्य स्वागत
शराब से लदी दो चार पहिया वाहन सहित पांच तस्कर गिरफ्तार, पांच मोबाइल भी जब्त
पलटू चाचा की नियत से बिहार में विकास का बेड़ा गर्क:तेजस्वी
सांसद ने पूर्व पार्षद मनोज ठाकुर के परिजनों से की मुलाकात,व्यक्तिगत मदद का दिलाया भरोसा
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज करेंगे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा शिलान्यास ::सौम्या माथुर
सेब की फसल के लिए वरदान है बर्फबारी : मौसम वैज्ञानिक