प्रकाश पूरब पर्व पर सिख समाज ने निकाली शोभायात्रा

प्रकाश पूरब पर्व पर सिख समाज ने निकाली शोभायात्रा

धमतरी।सिख समाज के प्रथम गुरु गुरु नानक देव जी का प्रकाश पूरब पर्व 27 नवंबर को मनाया जाएगा। इसके पूर्व शहर में सिख समाज ने शनिवार 25 नवंबर को शहर में आकर्षक शोभायात्रा निकाली। शोभायात्रा में समाजजनों का उत्साह देखते ही बना। समाजजनों ने आतिशबाजी की। गुरु नानक देव जी के प्रकाश पूरब (जयंती) के अवसर पर शोभायात्रा शहर के पुराना बस स्टैंड स्थित गुरुद्वारा भवन से निकली जो गोल बाजार, मठ मंदिर चौक, चमेली चौक, कचहरी चौक, तहसील आफिस, नगर निगम स्कूल, रत्नाबांधा चौक, मकई चौक से होते हुए वापस गुरुद्वारा भवन पहुंची। इस दौरान रास्ते भर आतिशबाजी होती रही। प्रथम पंक्ति में समाज के युवा चल रहे थे। दूसरी पंक्ति में समाज प्रमुख थे। तीसरी पंक्ति में एक रथ पर गुरुनानक देव जी की फोटो लगाई गई थी, जिसे आकर्षक फूलों से सजाया गया था। इसके बाद पंच प्यारे और उनके निशान साथ साथ चल रहे थे। पंच प्यारे और उनके निशान के सम्मान में समाज के बच्चे और युक्तियां सड़क की सफाई करते हुए चल रहे थे। इसके बाद की पंक्ति में रात पर बच्चे सवार थे। अंतिम पंक्ति में समाज की युवतियों व महिलाएं गुरु नानक देव का बखान करते हुए चल रही थी। बैंड बाजे की धुन पर निकली शोभायात्रा का आकर्षण देखते ही बना। शोभायात्रा का विभिन्न स्थानों पर अन्य समाज और संस्थानों ने स्वागत किया। गुरु नानक देव की जयंती पर निकली शोभायात्रा के दौरान सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे।

शोभायात्रा में प्रमुख रूप से समाज के प्रधान जितेंद्र सिंघ खालसा, जसपाल सिंघ छाबड़ा, डा जगविंदर सिंघ खालसा, सारंगपान सिंघ खालसा, मनप्रीत सिंघ छाबड़ा, संदीप सिंघ जुनेजा, जरनैल सिंघ भाटिया, सुखविंदर सिंघ पाबला, रंजीत छाबड़ा, देवेंद्र सिंघ अजमानी, कुलप्रीत सिंघ अजमानी, अवतार सिंघ तलुजा, डॉ. सतप्रीत सिंघ छाबड़ा, स्वर्ण कौर भाबरा, ममता खालसा, अमरजीत कौर सहित काफी संख्या में समाज के लोग शामिल थे।

गुरूनानक देव की जयंती पर विविध कार्यक्रम
सिख समाज के सचिव रजिंदर सिंघ देउ ने बताया कि प्रकाश पूरब पर्व पर गुरुद्वारा में प्रतिदिन विभिन्न कार्यक्रम हो रहे हैं। 10 दिन पहले गुरु का संदेश लोगों तक पहुंचाने सुबह पांच बजे से प्रभातफेरी निकाली जा रही है। शबद कीर्तन, नगर कीर्तन व अन्य धार्मिक कार्यक्रम में महिलाएं व बच्चे हिस्सा ले रहे हैं। शनिवार को सुबह सात बजे से साढ़े सात बजे तक श्रीखंड पाठ साहिब का कार्यक्रम हुआ। इसके बाद हजूरी रागी जत्था के कलाकार अरुण दीप सिंह का कार्यक्रम हुआ। 26 नवंबर को हजूरी रागी जत्था के कलाकार करमजीत सिंह निमाना का कार्यक्रम होगा। सुबह नौ बजे से सवा नौ बजे तक दीवान की पूरी समाप्ति होगी। शाम को भी शबद कीर्तन का कार्यक्रम होगा। 27 नवंबर को गुरूनानक देव की जयंती धूमधाम से मनाई जाएगी। सुबह सात बजे से लेकर दोपहर एक बजे तक विविध कार्यक्रम होंगे। रागी जत्था के कलाकार शबद कीर्तन की प्रस्तुति। इसके अलावा अन्य कार्यक्रम भी होंगे। शाम सात बजे से रात 12 बजे तक विविध आयोजन होंगे।

Tags:

About The Author

Latest News