राजनीति में नैतिकता का पतन चरम पर है, इसलिए राजनीति से संन्यास ही रास्ता : पूनिया

राजनीति में नैतिकता का पतन चरम पर है, इसलिए राजनीति से संन्यास ही रास्ता : पूनिया

जोधपुर। प्रदेश की कांग्रेस भारतीय जनता पार्टी और जाट समाज की राजनीति में अपना वर्चस्व रखने वाले विजय पूनिया ने आज कहा कि उन्होंने और उनकी पत्नी ऊषा पूनिया ने राजनीति से संन्यास ले लिया है। वो अब न तो भाजपा की और नहीं कांग्रेस या किसी अन्य राजनीतिक दल का प्रचार प्रसार नहीं करेगे। जोधपुर में अपनी पत्नी उषा पूनिया के खिलाफ भाजपा नेत्री ज्योति मिर्धा और उसकी बहन की ओर से दर्ज कराये मुकदमे के खिलाफ कोर्ट में राहत मिलने के बाद दोनों बहनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के न्यायालय के आदेश के बाद पत्रकारों से रूबरू हो रहे है।

उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में राजनीति में नैतिक मूल्यों का कोई महत्व नहीं रहा है और नहीं कोई राजनीतिक परिवारों की पार्टियों के प्रति विश्वास। हर बार की तरह इस बार भी राजस्थान में सिर्फ विधायक बनने के लिये भाजपा कांग्रेस के नेताओं ने एक दूसरे की पार्टियों को छोडऩे के साथ नया घर बनाया, लेकिन इनको कहने और सुनाने वाला कोई नहीं बचा है। उन्होंने कहा कि सेवा के नाम पर राजनीति करके अपने हित साधने वाले नेताओं के बारे में कहा कि वे टिकट पाने के लिये किसी हद तक जा सकते है। इस तरह की राजनीति के कारण वे राजनीति से संन्यास लेकर सिर्फ समाज सेवा करते रहेगे।

Tags:

About The Author

Latest News

 बिहार विधानसभा के उपाध्यक्ष बने नरेन्द्र नारायण यादव, मुख्यमंत्री ने दी बधाई बिहार विधानसभा के उपाध्यक्ष बने नरेन्द्र नारायण यादव, मुख्यमंत्री ने दी बधाई
पटना । जदयू विधायक नरेन्द्र नारायण यादव विधानसभा उपाध्यक्ष होंगे। विधानसभा के स्पीकर नंद किशोर यादव ने शुक्रवार को उनके...
 मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने आध्यात्मिक गुरु बाबा हरदेव सिंह की जयंती पर किया नमन
मंडला में आज मिलेट फूड फेस्टिवल, 40 स्टॉलों पर उपलब्ध रहेंगे स्वादिष्ट व्यंजन
निजी स्कूलों में गरीब बच्चों के निशुल्क प्रवेश के लिए आज से ऑनलाइन आवेदन शुरू
मुख्यमंत्री आज नीमच को देंगे 752 करोड़ के विकास कार्यों की सौगात
भाजपा विधायक राजेंद्र पाटनी का निधन
'जोशी सर' नहीं रहे, अंतिम संस्कार आज शाम, राजकीय सम्मान के साथ दी जाएगी विदाई