पहाड़ से गिरा पत्थर मंदिर में जा घुसा लेकिन किसी को खरोच तक नही आयी…

मंडी। सावन माह के शुरू होने के मौके पर लोगों की सुबह ही मंदिर में पूजा-अर्चना के लिए आना-जाना शुरू हो गया था। चंडीगढ़-मनाली नेशनल हाईवे-21 पर सुबह 7.45 बजे हणोगी माता मंदिर के पास पहाड़ी से भारी चट्टानें खिसक कर हाईवे पर आ गई। जिससे माता के मंदिर का मेन गेट, जूस बार व कैंटीन को भारी नुकसान पहुंचा है।
पहाड़ी से चट्टानें उस वक्त मंदिर परिसर के पास गिरी जब वहां पर लोगों का आनाजाना शुरू हो चुका था, लेकिन किसी को भी किसी प्रकार का कोई नुकसान नहीं पहुंचा। 300 मीटर ऊपर से ऐसे आई चट्टानें

यह नेशनल हाईवे हर समय टूरिस्टों की आवाजाही से व्यस्त रहता है, लेकिन सड़क पर चट्टानें आने के समय कोई भी गाड़ियां यहां पर नहीं थी।
उसी समय पहाड़ी से लगभग 300 मीटर ऊपर से यह चट्टानें गिरकर हाईवे पर आ गई। जिस समय चट्टानें पहाड़ी से आई उस समय मंदिर में दो पुजारी पूजा-अर्चना कर रह रहे थे।
इसके साथ ही लगभग 60-70 लोग मंदिर स्टाफ सहित अन्य श्रद्धालु भी मंदिर परिसर में मौजूद थे।
जेसीबी मशीन ने नेशनल हाइवे से मलबे को हटाया
मंदिर में उपस्थित किसी भी व्यक्ति को चोट तक नहीं आई, हालांकि चट्टानें गिरने से मंदिर परिसर की संपत्ति को नुकसान पहुंचा है। जिसमें मंदिर के मेन गेट, जूस बार व कैंटीन में चट्टानों के आने से नुकसान हुआ है।
एनएच पंडोह डिविजन से जेसीबी मशीन ने नेशनल हाइवे से मलबे को हटाया और एक घंटे से बाधित यातायात को सुचारू कर दिया।
इसी के साथ मंदिर परिसर के जूस बार में घुसी भारी भरकम चट्टान को जेसीबी क्रेन के माध्यम से निकाला जाएगा।
चट्टानों के आने से बिजली सप्लाई पूरी तरह से बाधित हुई है। जिसके लिए विद्युत विभाग के कर्मचारी व अफसर ने मौके पर पहुंच कर कार्य शुरू कर दिया है।
पहले भी हो चुके हैं हादसे
इस स्थान पर 1984-85 में भी इस तरह पहाड़ी से स्लाइडिंग हुई थी। उस समय 4 लोगों की मृत्यु हो गई थी।
उसके बाद 2004 व 2012-13 में भी इसी तरह पहाड़ी से चट्टानें खिसक कर नेशनल हाईवे पर गिरी थी, लेकिन कोई भी जान-माल का नुकसान नहीं हुआ था।
अब फिर दोबारा 2017 में इसी तरह पहाड़ी से तीन भारी भरकम चट्टानें खिसक कर नेशनल हाईवे पर आई थीं।
किसी तरह का जानी नुकसान नहीं हुआ है। लेकिन मंदिर परिसर में मंदिर संपत्ति को लगभग 10 लाख का नुकसान हुआ है।
इस मौके पर तहसीलदार औट रमेश राणा सहित अन्य विभागों के अधिकारी भी उपस्थित रहे।

=>
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

E-Paper