रालोद 31 अक्टूबर को CM योगी का गोरखपुर में करेगें घेराव

लखनऊ: रालोद ने किसान विरोधी होने का केन्द्र और यूपी सरकार पर आरोप लगाया। उन्होंने आने वाली 31 अक्टूबर को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का घेराव गोरखपुर में करने की घोषणा की। रालोद के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. मसूद अहमद ने संवाददाताओं से कहा कि केन्द्र की नरेन्द्र मोदी सरकार और प्रदेश योगी आदित्यनाथ सरकार की नीतियों के कारण किसान बदहाल है।

उन्होंने कहा कि आगामी 31 अक्टूबर को मुख्यमंत्री गोरखपुर जाएंगे जहां रालोद कार्यकर्त्ता उनका घेराव करेंगे। उन्होंने कहा कि नोटबंदी और वस्तु एवं सेवाकर (जीएसटी) के कारण आम आदमी से लेकर कारोबारी तक परेशान है। युवा वर्ग बेरोजगारी मार झेल रहा है क्योंकि नोटबंदी के कारण हजारों कारखाने बंद हो गये और नये मकानों का निर्माण कार्य ठप हो गया। महंगाई चरम पर है और मजदूर भूखमरी के कगार पर है।

रालोद प्रदेश अध्यक्ष ने केन्द्र और प्रदेश सरकार को हर मोर्चे पर विफल रहने का आरोप लगाते कहा कि पता नहीं ये लोग प्रदेश को कहां ले जाना चाहते हैं । उन्होंने बीएचयू की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं का नारा’ खोखला साबित हो रहा है क्योंकि आज बेटी अपनी सुरक्षा की मांग करती है तो उन पर लाठी चलाई जाती है। उन्होंने कहा कि जब देश का जवान सीमा पर शहीद हो रहा हो और किसान और मजदूर खेत में परेशान हो तो विकास की बात करना बेमानी है।

मसूद ने नगर निकाय चुनाव के लिए आगामी 23 अक्टूबर को बैठक में पार्टी प्रत्याशियों की सूची पर विचार करेगी। उन्होंने ताजमहल के ताजा विवाद पर कटाक्ष करते हुए कहा कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) विधायक संगीत सोम का बयान बचकाना है। उन्होंने कहा कि मुगल बादशाह अकबर और शाहजहां जैसे नामों को इतिहास से हटाने की बात कर रहे हैं।

ऐसे में यह सोचने में भी आश्चर्य नहीं चाहिए कि 15 अगस्त को देश के प्रधानमंत्री लालकिले से झंडा फहराने से मना कर दें और घोषणा कर दें कि देश का नया संविधान अमित शाह के नेतृत्व में लिया जायेगा। धनतेरस, दीपावली एवं छठ पूजा की प्रदेशवासियों को हार्दिक बधाई देते हुए उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कल छोटी दीपावली को अयोध्या जा रहे हैं और अपने भाषण में वह कोई ऐसी भाषा का इस्तेमाल नहीं करें जिससे भाई-चारा प्रभावित हो।

=>
loading...
E-Paper