( T20 World Cup)
( T20 World Cup)

अंदर 19 में टी 20 वर्डकप (T20 World Cup) में शामिल फलक नाज करेगी प्रयागराज का नाम रौशन

प्रयागराज. संगम नगरी प्रयागराज की उदयीमान क्रिकेटर फलक नाज ने शहर और प्रदेश का मान बढ़ाया है. फलक नाज का चयन आईसीसी अंडर-19 वीमेन टी- 20 वर्ल्ड कप ( T20 World Cup) के लिए भारतीय टीम में किया गया है. यह वर्ल्ड कप दक्षिण अफ्रीका में 14 से 29 जनवरी के बीच खेला जाएगा. इससे पहले भारतीय टीम मेजबान टीम दक्षिण अफ्रीका से पांच मैचों की सीरीज भी दक्षिण अफ्रीका में खेलेगी. यह मैच प्रिटोरिया में 27 दिसंबर से 4 जनवरी के बीच आयोजित किया जाएगा.

फलक नाज के कोच अजय सिंह यादव के मुताबिक दाएं हाथ के मध्यम तेज गेंदबाज और मध्यक्रम के बल्लेबाज फलक ने हाल में ही न्यूजीलैंड के साथ मुंबई में हुए पांच टी-20 मैचों की सीरीज में उम्दा प्रदर्शन किया था. फलक नाज स्पोर्ट्स टैलेंट एकेडमी में पिछले 6 वर्षों से अजय सिंह यादव से प्रशिक्षण ले रही हैं. आईसीसी अंडर-19 वीमेन टी-20 वर्ल्ड कप और दक्षिण अफ्रीका के साथ 27 दिसंबर से 4 जनवरी के बीच होने वाले दो पक्षीय मैचों के पहले फलक नाज परिवार से मिलने अपने शहर प्रयागराज पहुंची हैं.

पिता स्कूल में हैं चपरासी
फलक नाज प्रयागराज के बलुवा घाट की रहने वाली हैं और उनके पिता नासिर अहमद एक स्कूल में चपरासी का काम करते हैं, जबकि मां जीनत बानो गृहणी हैं. फलक की एक छोटी बहन और एक बड़ा भाई भी है. फलक के पिता नासिर अहमद बताते हैं कि उनकी आमदनी अच्छी नहीं है, लेकिन बेटी के सपने को पूरा करने के लिए उन्होंने ओवरटाइम किया और बेटी के ट्रेनिंग में पूरी मदद की. मां भी हर पल बेटी के साथ खड़ी रहीं. मुस्लिम कम्युनिटी से आने की वजह से कई बार उनको आस-पड़ोस के लोगों के ताने भी सुनने पड़े, लेकिन इन सबसे बेपरवाह होकर उन्होंने बेटी के लगन को देखते हुए उसका साथ दिया.

देश के लिए वर्ल्ड कप जितने का सपना
फलक नाज के कोच अजय सिंह यादव के मुताबिक करीब 6 साल पहले जब फलक नाज उनके पास आई थी तो उसका क्रिकेट के प्रति जुनून और समर्पण देखकर उन्हें लगने लगा था कि एक दिन इसका चयन भारतीय क्रिकेट टीम में जरूर होगा. फलक नाज अपनी इस कामयाबी का श्रेय अपने कोच और अपने माता-पिता को देती है. उसका सपना है कि आईसीसी अंडर 19 वीमेन टी-20 वर्ल्ड कप के लिए बेहतरीन प्रदर्शन करे और अपने खेल में सुधार करते हुए इंडियन वीमेन क्रिकेट टीम में जगह बनाए और देश के लिए वर्ल्ड कप जीते.

See also  पूर्व क्रिकेटर ने कहा 'रिषभ पंत इस पीढ़ी के सहवाग हैं'