(route name):

कारगिल युद्ध शहीद की विधवा ने मार्ग का नाम बदलने पर जताई नाराजगी

मुजफ्फरनगर। मुजफ्फरनगर (route name) में कारगिल युद्ध शहीद की विधवा ने पति के नाम पर रखे मार्ग का नाम (route name) बदले जाने पर नाराजगी जताई। सोल्जर्स बोर्ड में पूर्व सैनिकों के साथ मीडिया से रूबरू होते हुए उन्होंने राज्यमंत्री कपिल देव अग्रवाल के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। उन्होंने कहा कि 10 मई को हापुड़ में देश को आजाद कराने के लिए सैनिकों के छेड़े गए संघर्ष की 165 वी वर्षगांठ हापुड़ में मनाई जा रही है।

जहां केन्द्र सरकार के मंत्री एवं पूर्व थल सेना अध्यक्ष जनरल वीके सिंह भी आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि सभी पूर्व सैनिक जिले मे कारगिल शहीद के नाम पर की जा रही राजनीति से वहां उन्हें अवगत कराएंगे। उन्होने कहा कि 28 फरवरी 2020 को सोल्जर बोर्ड तिराहा से गांधी कालोनी होते हुए पचेंडा तक मार्ग का नाम वीर बलिदानी बचन सिंह के नाम पर रखा गया था।

पूर्व सैनिको ने आरोप लगाया कि 1999 में हुए कारगिल यु़द्ध में शहादत देने वाले वीर सैनिक बचन सिंह के नाम पर रखे मार्ग का नाम बदलकर राज्यमंत्री ने गुरु गोविंद सिंह के नाम पर रखवा दिया। कहा कि बिना कानूनी प्रक्रिया अपनाए यह कृत्य कर जगह-जगह बोर्ड लगवा दिये गए। इससे एक शहीद का अपमान हुआ।

वे इसे कभी बर्दाश्त नहीं करेंगे। राष्ट़्रीय सैनिक संस्था प्रदेश अध्यक्ष कैप्टन सुरेश चंद त्यागी ने कहा कि जिन लोगों के परिवार में भी कोई सैनिक नहीं हआ वे किसी शहीद सैनिक का सम्मान नहीं कर सकते। उन्होंने राज्यमंत्री कपिल देव अग्रवाल पर सीधे आरोप लगाए कि शहीद के नाम रखे मार्ग का नाम बदलकर वह राजनीति कर रहे हैं।

See also  भाजपा विधायक और प्रदेश राज्यमंत्री की गंगानगर थाने में पुलिस से कहासुनी