तमिलनाडु में उत्तरी तटीय क्षेत्र में भारी से बहुत भारी बारिश होने के आसार

तमिलनाडु में उत्तरी तटीय क्षेत्र में भारी से बहुत भारी बारिश होने के आसार

चेन्नई: चेन्नई शहर और आसपास के कई हिस्सों में तेज़ बारिश के कारण कई इलाकों में पानी भर गया जिससे यातायात बाधित हुआ और लोगों को परेशानी हुई।  वहीं तमिलनाडु के उत्तरी तटीय क्षेत्र में हल्की बारिश हुई। बुधवार से अब तक यहां बारिश से संबंधित घटनाओं में कम से कम चार मौत हो चुकी हैं। मौसम विभाग के मुताबिकतमिलनाडु और पुडुचेरी में चार दिसंबर तक हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। तमिलनाडु में उत्तरी तटीय क्षेत्र में भारी से बहुत भारी बारिश होने के आसार हैं। बंगाल की खाड़ी के दक्षिण-पूर्व में दिख रहा निम्न दबाव क्षेत्र का एक दिसंबर तक कम दबाव के रूप में और केंद्रित हो सकता। धीरे-धीरे यह तीन दिसंबर तक एक चक्रवाती तूफान के रूप में बदल जाएगा। चक्रवाती तूफान के चार दिसंबर की सुबह उत्तरी तमिलनाडु और दक्षिणी आंध्र प्रदेश के तटों तक पहुंचने के आसार है। 

राजधानी के कई हिस्सों और आसपास के तिरुवल्लुर, कांचीपुरम और चेंगलपेट जिलों में बृहस्पतिवार को यातायात जाम देखा गया। रात भर बारिश जारी रहने की वजह से स्कूलों में छुट्टी घोषित कर दी गई। साथ ही निचले इलाकों में स्थित कुछ घरों में पानी घुस गया और बिजली भी गुल हो गई। मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने स्थिति की समीक्षा के लिए बृहद चेन्नई निगम (जीसीसी) में शीर्ष अधिकारियों के साथ बैठक की। स्टालिन ने जीसीसी के कमान एवं नियंत्रण केंद्र में संपर्क करने वाले लोगों से फोन पर बात भी की और अधिकारियों को तुरंत उचित कार्रवाई करने का निर्देश दिया। 

तिरुवल्लूर में सबसे ज्यादा बारिश 
बाद में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में स्टालिन ने कहा कि प्रशासन बारिश के पानी की तेज़ी से निकाल रहा हैं। क्षेत्रीय मौसम विज्ञान केंद्र ने कहा कि तिरुवल्लूर में सबसे ज्यादा 19 सेमी बारिश हुई है। चेन्नई और आसपास के जिलों के अलावा, कुड्डालोर और विल्लुपुरम सहित तमिलनाडु के उत्तरी तटीय क्षेत्र के कई अन्य हिस्सों में बारिश हुई। तंजावुर सहित कावेरी डेल्टा क्षेत्रों में बुधवार को दो सेमी से तीन सेमी वर्षा हुई। वर्षा के पानी को निकालने के लिए किए जा रहे काम का निरीक्षण करने के बाद पत्रकारों से बात करते हुए, स्वास्थ्य मंत्री एम.सुब्रमण्यम ने कहा कि बहुत भारी बारिश के बावजूद, 'बड़े पैमाने पर' जलभराव नहीं हुआ।

Tags:

About The Author

Tarunmitra Picture

‘तरुणमित्र’ श्रम ही आधार, सिर्फ खबरों से सरोकार। के तर्ज पर प्रकाशित होने वाला ऐसा समचाार पत्र है जो वर्ष 1978 में पूर्वी उत्तर प्रदेश के जौनपुर जैसे सुविधाविहीन शहर से स्व0 समूह सम्पादक कैलाशनाथ के श्रम के बदौलत प्रकाशित होकर आज पांच प्रदेश (उत्तर प्रदेश, बिहार, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और उत्तराखण्ड) तक अपनी पहुंच बना चुका है। 

Latest News

 अग्निशमन उपकरणों के सम्बन्ध में प्रशिक्षण देकर छात्र / छात्राओं को किया गया जागरूक अग्निशमन उपकरणों के सम्बन्ध में प्रशिक्षण देकर छात्र / छात्राओं को किया गया जागरूक
संत कबीर नगर ,आज दिनांक 22.02.2024 को पुलिस महानिदेशक, अग्निशमन तथा आपात सेवाएं उत्तर प्रदेश लखनऊ के आदेश के क्रम...
रिश्वत लेते रंगे हाँथ पकड़ा गया माल थाने का दरोगा 
संवैधानिक अधिकार के पोस्टर/ बैनर को समस्त थानों पर स्थित महिला हेल्प डेस्क पर सूचनार्थ चस्पा किया गया
भू-माफियाओं पर लगाम कसेगा एंटी भू-माफिया सेल: जेसीपी
बोर्ड परीक्षा: फूल बरसाकर बच्चों के टेंशन को किया कम
डाक विभाग के दीन दयाल स्पर्श छात्रवृत्ति योजनाके विजेता किए गए पुरस्कृत
चेयरमैन पति को दबंग ने दी जान से मारने की धमकी