लोकगीत पानी मारी गला झाई के गीतकार जोगेंद्र महापात्र सम्मानित

लोकगीत पानी मारी गला झाई के गीतकार जोगेंद्र महापात्र सम्मानित

जगदलपुर। बस्तर के सबसे लोकप्रिय लोकगीत-पानी मारी गला झाई के गीतकार जोगेंद्र महापात्र जोगी को आज रविवार को बस्तर आर्ट गैलरी में नव जनरंग संस्था द्वारा बस्तर भूषण से सम्मानित किया है। गौरतलब है कि वर्ष 1977 में जब आकाशवाणी जगदलपुर का उद्घाटन हुआ था, तब यह गीत लोगों ने रेडियो के माध्यम से पहली बार सुना था। उस दौरान यह गीत इतना अधिक लोकप्रिय हुआ कि प्रतिदिन इस गीत को सुनाने सैंकड़ों पोस्टकार्ड आकाशवाणी जगदलपुर कार्यालय पहुंचने लगे। मात्र तीन महीने में ही 35 हजार से ज्यादा फरमाइसी कार्ड आकाशवाणी में एकत्र हो गए थे। यह गीत 47 वर्षों बाद आज भी लोकप्रिय है। यह लोकगीत बस्तर की नैसर्गिक, पौराणिक, सांस्कृतिक, पुरातात्विक और साहित्यिक समृद्धि का दर्पण है। जोगी जी के गीतों का शानदार संग्रह हल्बी गीत एलबम जोनी उजर सदाबहार है, जिसे यू ट्यूब पर सुना जा सकता है।


Tags:

About The Author

Latest News

हवन, यज्ञ, भण्डारे के साथ 9 दिवसीय अनुष्ठान सम्पन्न हवन, यज्ञ, भण्डारे के साथ 9 दिवसीय अनुष्ठान सम्पन्न
बस्ती - श्रीराम जानकी मंदिर निपनिया चौराहा में मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा के निमित्त  दसकोलवा में आयोजित 9 दिवसीय श्री शिव...
डीएम ने निर्वाचन कार्यो की समीक्षा में दिए आवश्यक निर्देश
कठिन परिश्रम पर ही भाग्य निर्भर: सृष्टि मिश्रा
बुंदेलखंड एक्सप्रेसवे पर फ्लाईओवर से तेज रफ्तार कार नीचे गिरी, चार घायल
यूपीएससी में 10वीं रैंक हासिल करने पर दक्ष फाउंडेशन ने ऐश्वर्यम प्रजापति का किया स्वागत
जिला जज रैंक के 53 जजों को मिली नई तैनाती
विशेषज्ञ चिकित्सकों की कमी से जूझ रहा कबरई सीएचसी