युद्धविराम चाहते हैं पुतिन?

Does Putin want a ceasefire?

युद्धविराम चाहते हैं पुतिन?

jkyhरूस और यूक्रेन: रूस और यूक्रेन के बीच जारी युद्ध को डेढ़ साल से ज्यादा वक्त बीत चुका है. इस युद्ध में हजारों लोग जान गंवा चुके हैं. इसके बावजूद भी न तो रूस और ना ही यूक्रेन ने युद्ध से पीछे हटने की बात कही है. युद्ध जब शुरू हुआ तो कहा जा रहा था कि यूक्रेन कुछ ही दिनों में रूस के आगे घुटने टेक देगा लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं हुआ. व्लादिमीर पुतिन अब युद्ध से पीछे हटना चाहते हैं लेकिन कहने से बच रहे हैं.

युद्धविराम चाहते हैं पुतिन?
रिपोर्ट में दावा किया गया है कि पुतिन चाहते हैं कि चुपचाप यूक्रेन के साथ युद्धविराम हो जाए. रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन यूक्रेन के साथ युद्धविराम के लिए तत्परता का संकेत दे रहे हैं. क्‍योंकि इससे पहले कोविड-19 के कारण आर्थिक सुधार बाधित हुआ. दुनिया भर में भोजन की कमी पैदा हुई और मित्र राष्ट्रों के बीच संबंधों में दरार आ गई. क्रेमलिन के करीबी दो पूर्व वरिष्ठ रूसी अधिकारियों, पुतिन के दूतों और अमेरिकी व अंतर्राष्ट्रीय अधिकारियों के बयान का हवाला देते हुए रिपोर्ट दी. इसमें कहा गया है कि पुतिन ने निजी तौर पर मध्यस्थों के जरिए युद्धविराम की इच्छा जताई है.

रिपोर्ट में चौंकाने वाला दावा
 क्रेमलिन के करीबी पूर्व वरिष्ठ रूसी अधिकारियों और अन्य अमेरिकी और अंतर्राष्ट्रीय अधिकारियों ने कहा कि पुतिन सितंबर से संकेत दे रहे हैं कि वह वर्तमान सीमा रेखाओं पर लड़ाई को रोकने के लिए तैयार हैं. इसमें यह भी कहा गया है कि हो सकता है यह पुतिन की चाल हो. इसके अलावा, यह अभी तक स्पष्ट नहीं है कि यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की इस समझौते को स्वीकार करेंगे या नहीं क्योंकि रूस के पास अभी भी देश का हिस्सा है. 

24 फरवरी 2022 को शुरू हुआ था युद्ध

24 फरवरी, 2022 को रूस ने पड़ोसी यूक्रेन पर आक्रमण किया और देश के विशाल क्षेत्रों पर तेजी से कब्जा कर लिया. हालांकि, यूक्रेनी सेना के जोरदार पलटवार करते हुए रूसी सेना को सफलतापूर्वक अपने उत्तरी क्षेत्रों से पीछे हटने के लिए मजबूर कर दिया. अक्टूबर 2022 के बाद से युद्ध की रेखाएं ज्यादातर नहीं बदली हैं. रूस, यूक्रेन के पूर्व और दक्षिण के हिस्सों को नियंत्रित कर रहा है.

हजारों लोगों ने गंवाई जान

यूक्रेन अपनी खोई जमीन दोबारा हासिल नहीं कर पाया है. इसे पश्चिम में ज्यादा समर्थन नहीं मिल रहा है और गाजा युद्ध दुनिया का अधिक ध्यान खींच रहा है. जेलेंस्की ने अपने राष्ट्र के लिए अधिक सहायता स्वीकृत करने के लिए अमेरिकी अधिकारियों को मनाने के अपने प्रयासों के तहत राष्ट्रपति जो बाइडेन और कांग्रेस के सदस्यों से मिलने के लिए पिछले सप्ताह वाशिंगटन का दौरा किया था. बाइडेन ने यूक्रेन के लिए 60 अरब डॉलर का अनुरोध किया है. अमेरिकी प्रशासन ने चेतावनी दी कि यूक्रेन के युद्ध प्रयासों के लिए उसके पास जल्द ही धन खत्म हो जाएगा. रिपब्लिकन ने पूरक फंडिंग अनुरोध पर मतदान से पहले सीमा और शरण नीतियों में पर्याप्त समायोजन करने पर जोर दिया. संयुक्त राष्ट्र ने बताया कि रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध शुरू होने के बाद से 10,000 से अधिक नागरिक मारे गए हैं और 18,500 से अधिक घायल हुए हैं.

About The Author

Latest News