अंडा फैक्ट्री को तत्काल बंद कराने की डीएम व सी एम से मांग

अंडा फैक्ट्री को तत्काल बंद कराने की डीएम व सी एम से मांग

किसान नेता देवेंद्र तिवारी के तेरवा गांव में अंडा फैक्ट्री के विरोध में प्रस्तावित धरने को पुलिस व प्रशासन के दबाव में न होने से नाराज सैकड़ों ग्रामीणों ने दर्ज कराया विरोध

सरोजनीनगर । किसान नेता देवेंद्र तिवारी सरोजनीनगर के तेरवा गाँव में अंडा फैक्ट्री के विरोध में मंगलवार को प्रस्तावित धरने में पुलिस और प्रशासन के दबाव में ना हो पाने से नाराज ग्रामीणों ने सैकड़ों की तादात में एकत्रित होकर अपना विरोध दर्ज कराया।

ग्रामीणों ने जनहित में लोगों के स्वास्थ्य को ध्यान रखते हुए अंडा फैक्ट्री को तत्काल बंद कराने की लखनऊ के जिलाधिकारी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मांग की।ग्रामीणों का आरोप है पुलिस और प्रशासन अंडा फैक्ट्री के मालिक के दबाव में काम कर रहे हैं ।

यही कारण है की ग्रामीणों की आवाज को दबाया जा रहा है।गौरतलब है कि किसान नेता देवेंद्र तिवारी सोमवार को सरोजनीनगर के तेरवा गाँव पहुंचे थे । जहां पर ग्रामीणों ने उन्हें बताया था कि यहां पर चल रही अंडा फैक्ट्री के कारण आस पास के गांवों तक गंदगी का अंबार होने के साथ ही भारी तादात में मक्खियां भी लग रही हैं।

जिससे काफी लोग बीमार भी हो रहे है। ग्रामीणों ने किसान नेता को बताया की समाधान दिवस में मंडलायुक्त रोशन जैकब से भी इस समस्या की शिकायत की गई थी और उन्होंने अफसरों को कार्यवाही के निर्देश भी दिए थे , लेकिन उसके बाद भी कोई कार्यवाही नहीं की गई।

ग्रामीणों का कहना है की अंडे फैक्ट्री का मालिक खुद को गोरखपुर निवासी और सीएम योगी का खास बताता है। जिससे अधिकारी भी उस पर कार्रवाई करने में घबरा रहे हैं। ग्रामीणों की शिकायत के बाद किसान नेता देवेंद्र कुमार ने उन्हें भरोसा दिलाया कि उन्हें भले ही अब हाईकोर्ट में जनहित याचिका ही क्यों ना दायर करनी पड़े,

लेकिन वे इस अंडा फैक्ट्री पर ताला लगवा कर ही सांस लेंगे। किसान नेता ने मंगलवार को तिर्वा गांव में धरने पर बैठने की भी घोषणा की थी। इसी क्रम में मंगलवार सुबह से ही पुलिस और प्रशासन हरकत में आ गए और किसान नेता देवेंद्र तिवारी को उनके आलमबाग स्थित कार्यालय पर ही नजर बंद कर दिया।

किसान नेता के अघोषित रूप से पुलिस हिरासत में लिए जाने की जानकारी जब ग्रामीणों को हुई तो वे आक्रोशित हो गए और सैकड़ों की तादात में तिर्वा गांव स्थित अंडा फैक्ट्री के सामने एकत्र होकर नारेबाजी करने लगे। खबर लिखे जाने तक पुलिस और प्रशासन के अधिकारी ग्रामीणों को समझाने बुझाने की मशक्कत में जुटे हुए थे।

ग्रामीणों की नाराजगी को देखते हुए तिर्वा गाँव में भारी पीएसी व पुलिस बल तैनात किया गया है। वहीं दूसरी तरफ किसान नेता देवेंद्र तिवारी ने बयान जारी कर कहा है कि इस तरह की तानाशाही के आगे वे झुकने वाले नही है और अगर धरना नही करने दिया गया तो वे उच्च न्यायालय की शरण में जायेंगे और वहां पर ग्रामीणों के लिए न्याय की मांग करेंगे,

लेकिन लोगों के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ नहीं होने देंगे। फिर इससे फर्क नहीं पड़ता कि सामने वाला कितना बड़ा रसूखदार है। किसान नेता ने यह भी कहा की अगर जरूरत पड़ी तो वे समय लेकर सीएम योगी से भी मुलाकात करेंगे और उन्हें पूरी जानकारी से अवगत कराकर अंडा फैक्ट्री बंद करवाने की मांग करेंगे।

About The Author

Latest News