CBSE: दसवीं, बारहवीं की परीक्षा में लड़कियों ने मारी बाजी

CBSE:  दसवीं, बारहवीं की परीक्षा में लड़कियों ने मारी बाजी

नयी दिल्ली 13 मई: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की दसवीं और बारहवीं की परीक्षा में लड़कियों ने परचम लहराया।

सीबीएसई की ओर से सोमवार घोषित किये गये नतीजों के अनुसार दसवीं की परीक्षा में 94.75 प्रतिशत छात्रायें उत्तीर्ण हुई हैं। वहीं बारहवीं की परीक्षा में 91.52 प्रतिशत छात्रायें उत्तीर्ण हुयी हैं, जबकि बारहवीं की परीक्षा में 85.12 प्रतिशत और दसवीं की परीक्षा में 92.72 प्रतिशत छात्र सफल हुये हैं।

बोर्ड ने पहले बारहवीं के नतीजे घोषित किये और उसके करीब एक घंटे बाद अपनी आधिकारिक वेबसाइट सीबीएसई.जीओवी.इन और सीबीएसईरिजल्ट्स.एनआईसी,इनदसवीं कक्षा के परीक्षा परिणाम भी जारी कर दिये। इस बार सीबीएसई की बारहवीं की परीक्षा में जहां 87.98 प्रतिशत छात्र उत्तीर्ण हुये हैं। वहीं दसवीं की परीक्षा में 93.60 प्रतिशत छात्र सफल हुये हैं।इस बार सीबीएसई सर्वोच्च स्थान प्राप्त करने वाले छात्रों को मेरिट प्रमाण पत्र जारी करेगा। ऐसे छात्रों को उनका सीबीएसई मेरिट सर्टिफिकेट उनके डिजिलॉकर अकाउंट में मिल जायेगा।इस वर्ष दसवीं की परीक्षा में कुल 22,38,827 छात्र शामिल हुये थे, जिनमें से 20,95,467 छात्र उत्तीर्ण हुये हैं। सफल हुये छात्रों का प्रतिशत 93.60 प्रतिशत रहा है, जो पिछले साल से 0.48 प्रतिशत अधिक है।

वहीं, इस बार बारहवीं में 87.98 प्रतिशत छात्र सफल हुये हैं। पिछले वर्ष की तुलना में इस साल 0.65 प्रतिशत अधिक छात्र सफल हुये हैं। लड़कों की तुलना में लड़कियों के उत्तीर्ण होने का प्रतिशत 6.40 प्रतिशत अधिक है।सीबीएसई की बारहवीं के नतीजे में 99.91 प्रतिशत के साथ त्रिवेन्द्रम एक बार फिर सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाला क्षेत्र बना है। वहीं, प्रयागराज का परिणाम 78.25 प्रतिशत के साथ सबसे निचले पायदान पर रहा है। वहीं, दसवीं क्‍लास में भी त्रिवेंद्रम रीजन का नतीजा 99.75 प्रतिशत के साथ सर्वश्रेष्ठ रहा है। दूसरे नंबर पर 99.60 प्रतिशत के साथ के साथ विजयवाड़ा क्षेत्र है। तीसरे नंबर पर 99.30 प्रतिशत के साथ चेन्नई क्षेत्र है। सबसे खराब नतीजा गुवाहाटी क्षेत्र का 77.94 प्रतिशत है।दिल्ली क्षेत्र में 2,95,792 छात्रों ने सीबीएसई की बारहवीं की परीक्षा दी थी और 2,80,925 छात्र सफल हुये हैं। दिल्ली में 94.97 फीसदी छात्र उत्तीर्ण हुये हैं।

पूर्वी दिल्ली में छात्रों का परीक्षा परिणाम 94.51 प्रतिशत रहा और पश्चिमी दिल्ली में 95.64 प्रतिशत छात्र सफल हुये हैं।सीबीएसई की बारहवीं की परीक्षा के लिये कुल 18417 विद्यालयों 17 लाख 41 विद्यार्थियों ने पंजीकरण कराया था और 7126 परीक्षा केन्द्रों पर परीक्षा आयोजित की गयी तथा एक करोड़ 10 लाख 50 हजार 267 परीक्षार्थियों ने उत्तर पुस्तिकायें लिखीं।

इस परीक्षा में केंद्रीय तिब्बती स्कूल प्रशासन स्कूल के परीक्षार्थियों की सफलता 93.23 प्रतिशत रही। जवाहर नवोदय विद्यालय का परिणाम 98.90 प्रतिशत, केन्द्रीय विद्यालय का 98.81 प्रतिशत, सहायता प्राप्त सरकारी स्कूलों का 91.42 प्रतिशत, सरकारी स्कूलों का परीक्षा परिणाम 88.23 प्रतिशत रहा, जबकि स्वतंत्र रूप से परीक्षा कराने वाले संस्थानों का परीक्षा परिणाम 87.70 प्रतिशत रहा।

About The Author

Tarunmitra Picture

‘तरुणमित्र’ श्रम ही आधार, सिर्फ खबरों से सरोकार। के तर्ज पर प्रकाशित होने वाला ऐसा समचाार पत्र है जो वर्ष 1978 में पूर्वी उत्तर प्रदेश के जौनपुर जैसे सुविधाविहीन शहर से स्व0 समूह सम्पादक कैलाशनाथ के श्रम के बदौलत प्रकाशित होकर आज पांच प्रदेश (उत्तर प्रदेश, बिहार, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश और उत्तराखण्ड) तक अपनी पहुंच बना चुका है।