मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह समारोह में कुल 700 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे

65 जोड़ों का मुस्लिम धर्म के अनुसार कराया गया निकाह

मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह समारोह में कुल 700 जोड़े परिणय सूत्र में बंधे

अलीगढ। जिलाधिकारी इन्द्र विक्रम सिंह द्वारा तालानगरी स्थित कलश फार्म हाउस में विघ्नहर्ता श्री गणेश जी की पूरे विधि-विधान से पूजा अर्चना, दीप प्रज्ज्वलन एवं माल्यार्पण कर मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह समारोह का शुभारम्भ किया गया। उन्होंने वर-वधुओं को आर्शीवचन देते हुए कहा कि आज आप अपनी जिंदगी की नई शुरूआत करने जा रहे हैं। मा0 प्रधानमंत्री जी की मंशा है कि ऐसे गरीब व निर्धन परिवार जो शादी विवाह समारोह में होने वाले व्यय को वहन करने में सक्षम नहीं हैं, उनका भी विवाह समारोह सम्मानपूर्वक, परम्परागत व धार्मिक रीति-रिवाज से सम्पन्न हो सके।
 
प्रधानमंत्री जी की परिकल्पना को साकार करने के लिये कि मा0 मुख्यमंत्री श्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना आरम्भ की गयी इसी के तहत यहां भव्य आयोजन किया जा रहा है।डीएम ने बताया कि योजना की पारदर्शिता के लिए इस बार ऑनलाइन आवेदन कराए गये हैं और उनका विभागीय अधिकारियों द्वारा भौतिक सत्यापन भी किया गया है। इस योजना की सबसे खास बात यह है कि इसमें धर्म, जाति एवं वर्ग का कोई बंधन नहीं है। कोई भी पात्र व्यक्ति योजना में ऑनलाइन आवेदन कर सामूहिक विवाह योजना का लाभ प्राप्त कर सकता है।
 
उन्होंने नवयुगल वर-वधुओं को आशीर्वाद देते हुए कहा कि अभी तक आप दो अलग-अलग परिवार व क्षेत्र से रहे हो। आज आप विवाह के गठबंधन में बंधकर अपने जीवन की एक नई पारी की शुरूआत कर रहे हो। ऐसे में आप सभी को मा0 मुख्यमंत्री जी समेत पूरे जिला प्रशासन की ओर से आगामी सुखमय वैवाहिक जीवन के लिये हार्दिक बधाई व आशीर्वाद हैं। उन्होंने पंडित जी एवं काजी जी से आव्हान किया कि वह विवाह और निकाह की रितियों और रस्मों को सरल भाषा में बताएं ताकि ये सभी नवयुगल उसे अपने जीवन में आत्मसात कर सकें।
 
उन्होंने समस्त जनपदवासियों से अपील करते हुए कहा कि जो भी पात्र योजना का लाभ नहीं ले सके हैं वह जल्द से जल्द ऑनलाइन आवेदन करें, जिला प्रशासन द्वारा जल्द ही ऐसा भव्य सामूहिक विवाह समारोह आयोजित कर उन्हें लाभान्वित किया जाएगा।इसके उपरान्त जिलाधिकारी ने वर-वधुआंे को उपहार स्वरूप दिये जाने वाले सामान की गुणवत्ता को परख आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। उन्होंने भोजन प्रांगण में लगाए गये विभिन्न स्टॉल का निरीक्षण कर गोलगप्पे और चीला का स्वाद लेकर उनकी गुणवत्ता पर संतोष प्रकट किया। डीएम ने वर-वधुओं के परिजनों से स्वयं मोबाइल लेकर उनको सेल्फी भी लेकर दी।
 
इसके बाद डीएम ने भण्डार गृृह में बन रहे भोजन एवं व्यंजनों को बनते देखा और रसोइये से सवाल-जवाब कर जानकारी प्राप्त की।जिला समाज कल्याण अधिकारी संध्या रानी बघेल ने बताया कि मा0 मुख्यमंत्री के निर्देशन एवं जिलाधिकारी के मार्गदर्शन में शनिवार को लगभग 700 जोड़ों का विवाह कराया गया है, जिसमें से लगभग 65 जोड़ों का निकाह मुस्लिम रीति-रिवाज से सम्पन्न हुआ है। सरकार द्वारा प्रति जोड़े पर 51 हजार रूपये का व्यय किया जाता है, जिसमें 35 हजार रूपये खाते में, 10 हजार रूपये का आवश्यक सामान और 6000 रूपये विवाह समारोह के आयोजन में व्यय किये जाते हैं। इस अवसर पर ब्लॉक प्रमुख गोंडा नरेन्द्र चौधरी, सीडीओ आकांक्षा राना, डीसी एनआरएलएम दीनदयाल वर्मा, डीपीओ श्रेयश कुमार, पिछड़ा वर्ग कल्याण अधिकारी रजनीश पाण्डेय, डिप्टी कलैक्टर राजकुमार मौर्य समेत अन्य जिलास्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।
Tags: Aligarh

About The Author

Latest News

उप मुख्यमंत्री अरुण साव का दावा- छत्तीसगढ़ में सात महीनों के भीतर अपराध में काफी कमी आई उप मुख्यमंत्री अरुण साव का दावा- छत्तीसगढ़ में सात महीनों के भीतर अपराध में काफी कमी आई
रायपुर। छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर सहित पूरे प्रदेश में हाे रहे अपराधाें काे लेकर कांग्रेस पार्टी लगातार सवाल उठा रही...
तापसी पन्नू ने बताई अनंत अंबानी की शादी में न जाने की वजह
मध्‍यप्रदेश के 20 जिलों में आज तेज बारिश की संभावना, बड़ा तालाब में बढ़ा जलस्‍तर
 21 जुलाई के बाद स्मार्ट मीटर होंगे प्रीपेड
मुंबई में भारी बारिश से कई इलाकों में जलभराव, पश्चिम रेलवे यातायात बाधित
 मुख्यमंत्री साय आज जशपुर जिला के दाैरे पर
नेपाल बस दुर्घटना : तीन दिनों में सिर्फ 5 शव बरामद, हादसे के बाद कुल 65 लोग हुए थे लापता