जिले में शांतिपूर्वक 64.72 प्रतिशत हुआ मतदान

बुजुर्गों, दिव्यांगों तथा नए मतदाताओं ने उत्साह से किया मतदान

जिले में शांतिपूर्वक 64.72 प्रतिशत हुआ मतदान

रीवा। रीवा तथा मऊगंज जिले के आठ विधानसभा क्षेत्रों में शुक्रवार को प्रात: 7 बजे कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान आरंभ हुआ। मतदान शुरू होते ही कई मतदान केन्द्रों में मतदाताओं की लम्बी-लम्बी कतारें देखी गईं। उत्सव के माहौल में बुजुर्गों, दिव्यांगों तथा पहली बार मतदाता बने युवाओं ने उत्साह के साथ मतदान किया। जिले में सैकड़ों मतदान केन्द्रों को आकर्षक ढंग से साज-सज्जा करके पिंक बूथ तथा आदर्श मतदान केन्द्र बनाया गया। मतदान को लेकर मतदाताओं में जबरदस्त उत्साह रहा। शाम 5 बजे तक जिले में लगभग 64.72 प्रतिशत मतदान हो चुका था।

जिले में हुए कुल मतदान में पुरूष मतदाताओं का 61.46 तथा महिला मतदाताओं का प्रतिशत 68.28 रहा। रीवा विधानसभा क्षेत्र को छोड़कर सभी विधानसभा क्षेत्रों में पुरूषों की तुलना में अधिक मतदान किया। अभी कई मतदान केन्द्रों में मतदान की अंतिम सूचना प्राप्त नहीं हुई है। इसमें कुछ वृद्धि हो सकती है। जिले में सभी मतदान केन्द्रों में शांतिपूर्वक मतदान संपन्न हुआ। कुछ मतदान केन्द्रों में छोटे-मोटे विवाद हुए जिन्हें प्रशासनिक और पुलिस अधिकारियों ने तत्परता से समाप्त कर शांतिपूर्वक मतदान सुनिश्चित किया। निर्धारित समय समाप्त होने के बाद भी विधानसभा क्षेत्र त्योंथर, गुढ़, मऊगंज, सेमरिया तथा सिरमौर के कई मतदान केन्द्रों में मतदान जारी था।

जिले में प्रात: 5.30 बजे से भी मतदान केन्द्रों में मॉक पोल की प्रक्रिया आरंभ हुई। मॉकपोल के बाद प्रात: 7 बजे से वास्तविक मतदान आरंभ हुआ। मॉकपोल के दौरान 7 मतदान केन्द्रों में ईव्हीएम में तकनीकी खराबी के कारण उनमें परिवर्तन किया गया। मतदान के दौरान भी कुछ ईव्हीएम में तकनीकी बाधाएं आईं जिन्हें तत्परता से दूर करके सुचारू मतदान कराया जाएगा। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी प्रतिभा पाल तथा पुलिस अधीक्षक विवेक सिंह ने मतदान के समय समस्त व्यवस्थाएं सुनिश्चित की। मतदान के दौरान भारत तिब्बत सीमा पुलिस अर्द्धसैनिक बलों की 19 कंपनियाँ जिले भर में तैनात रहीं। इनके अलावा नगर सेना के 1600 जवान, जिला पुलिस बल के 1200 से अधिक जवान तथा विशेष पुलिस अधिकारी के रूप में वन विभाग के कर्मचारी, आंगनवाड़ी कार्यकर्ता तथा कोटवार तैनात रहे। छुटपुट घटनाओं को छोड़कर मतदान शांतिपूर्वक संपन्न हुआ।

समाचार लिखे जाने तक विधानसभा क्षेत्र 68 सिरमौर में 62.37 प्रतिशत, 69 सेमरिया में 68.13 प्रतिशत, 70 त्योंथर में 65.57 प्रतिशत, 71 मऊगंज में 65.79 प्रतिशत, 72 देवतालाब में 61.85 प्रतिशत, 73 मनगवां में 61.41 प्रतिशत, 74 रीवा में 65.29 प्रतिशत तथा विधानसभा क्षेत्र 75 गुढ़ में 67.79 प्रतिशत मतदान हुआ। जिले के शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में सुबह से ही मतदान में तेजी रही। जिले में सुबह 9 बजे तक 12.48 प्रतिशत मतदान हुआ। इस अवधि में सर्वाधिक 13.28 प्रतिशत मतदान मनगवां विधानसभा क्षेत्र में हुआ। मौसम साफ होने के कारण मतदान में 9 बजे के बाद तेजी आई। सुबह 11 बजे तक जिले में 28.06 प्रतिशत मतदान हो चुका था। दोपहर तक मतदान तेजी से जारी रहा। दोपहर एक बजे तक जिले में 43.10 प्रतिशत मतदान हो चुका था। सर्वाधिक 45.26 प्रतिशत सेमरिया विधानसभा क्षेत्र में हुआ। दोपहर 3 बजे तक जिले में 55.42 प्रतिशत मतदान हो चुका था। सर्वाधिक 58.95 प्रतिशत सेमरिया विधानसभा क्षेत्र में हुआ। शाम 5 बजे तक जिले में 64.72 प्रतिशत मतदान हुआ।

मतदान में महिलाओं ने पुरूषों से बाजी मारी - सात विधानसभा क्षेत्रों रहीं आगे
जिले के आठ विधानसभा क्षेत्रों कुल 64.72 प्रतिशत मतदान हुआ। इसमें पुरूष मतदाताओं का प्रतिशत 61.46 तथा महिला मतदाताओं का प्रतिशत 68. 28 रहा। इस दृष्टि से देखा जाए तो पुरूषों की तुलना में महिला मतदाताओं का प्रतिशत लगभग 7 प्रतिशत अधिक रहा रीवा विधानसभा क्षेत्र को छोड़कर शेष सभी आठ विधानसभा क्षेत्रों में पुरूषों की तुलना में महिलाओं का मतदान प्रतिशत अधिक रहा। विधानसभा क्षेत्र सिरमौर में पुरूषों का प्रतिशत 58.57 तो महिलाओं का 66.62 प्रतिशत रहा। विधानसभा क्षेत्र सेमरिया में पुरूषों का प्रतिशत 64.43 तो महिलाओं का 72.12 प्रतिशत, त्योंथर में पुरूष 61.09, महिला 70.54, मऊगंज पुरूष 60.99, महिला 71.02 तथा देवतालाब विधानसभा क्षेत्र में पुरूष मतदाताओं का प्रतिशत 58.11 तथा महिला मतदाताओं का प्रतिशत 65.94 रहा। विधानसभा क्षेत्र मनगवां में पुरूष मतदाताओं का प्रतिशत 58.24 तथा महिलाओं का प्रतिशत 64.90 एवं गुढ़ विधानसभा क्षेत्र में पुरूष मतदाताओं का प्रतिशत 64.89 तथा महिलाओं का प्रतिशत 70.97 रहा। केवल रीवा विधानसभा क्षेत्र में महिलाएं मामूली अंतर से पुरूषों से पीछे रह गर्इं। इस विधानसभा क्षेत्र में पुरूषों का प्रतिशत 66.05 तथा महिलाओं का प्रतिशत 64.50 रहा। यह महिला सशक्तिकरण का नया आयाम है।

लोकतंत्र के महापर्व में महिलाओं की भागीदारी बढ़ी है। जिले भर में लगातार चलाए गए मतदाता जागरूकता अभियान ने भी महिलाओं का मतदान प्रतिशत बढ़ाने में सकारात्मक योगदान दिया है। आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर जाकर महिलाओं को मतदान के लिए प्रेरित किया गया। महिलाओं ने सुबह से ही मतदान केन्द्रों में पहुंचकर अपने मताधिकार का उपयोग किया। महिलाओं ने मतदान प्रतिशत के मामले में पुरूषों को पीछे छोड़ते हुए इस बात का प्रमाण दिया कि वे हर क्षेत्र में आगे हैं।

Tags:

About The Author

Latest News

आयोजित हुआ अलंकरण समारोह आयोजित हुआ अलंकरण समारोह
पुरूस्कार देते एमएलसी  कस्बा के यूनिवर्सल पब्लिक हाई स्कूल में शनिवार को छात्र- शिक्षक अलंकरण समारोह के मुख्य अतिथि उमेश...
पल्स पोलियों अभियान : कल पिलाई जाएगी दो बूंद जिंदगी की
विभागीय व्यवस्था ही बनी सुगम यातायात में बाधक
रिपोर्ट में साबित हुआ छात्र साहिल की मौत हत्या नही, था हादसा
भारतीय जनता पार्टी के सांसद, जिला व महानगर अध्यक्ष के नेतृत्व में सैकड़ों कार्यकर्ताओ ने मुख्यालय पर काँग्रेस पार्टी में भ्र्ष्टाचार के खिलाफ धरना देकर ज्ञापन सौपा
शोहदे ने किया प्राइवेट हॉस्पिटल की नर्स का अपहरण
दुकान की आग दुकान मालिक की सदमें मे मौत