जनपद में 283 स्थानों पर सशर्त लाउडस्पीकर बजाने की अनुमति

-पुलिस ने अभियान चलाकर सभी लाउडस्पीकर को किया चेक

-140 लाउडस्पीकर मानकों के विपरीत पाये गये, 59 को उतरवाया गया
मथुरा। जनपद भर में कुल 283 स्थानों पर ध्वनि विस्तारक यंत्र लगाने और उन्हें बजाने की सशर्त अनुमति है। पुलिस समय समय पर अभियान चला कर यह सुनिश्चित करती है कि इन लाउडस्पीकर को शर्तों के तहत नियमानुसार बजाया जा रहा है अथवा नहीं। जहां अनियमितता मिलती है वहां पुलिस कार्यवाही करती है। धार्मिक स्थलों पर लाउडस्पीकर बजाने को लेकर पुलिस एक बार फिर एक्शन में है। पुलिस को इस काम में धर्मगुरू और स्थानीय लोगों का सहयोग भी मिल रहा है। जनपद भर में कहीं भी किसी तरह के विरोध की कोई सूचना नहीं है। पुलिस इससे पहले भी इस तरह की कार्यवाही कर चुकी है, जिसकी वजह से इस लोगों में कोई कौतुहल भी नहीं है। लोग इसे सामान्य प्रक्रिया की तरह ले रहे हैं

और पुलिस एवं प्रशासन का सहयोग कर रहे हैं। सोमवार की सुबह यूपी पुलिस के महानिदेशक के निर्देश पर चलाये जा रहे इस अभियान में धार्मिक स्थलों, सार्वजनिक स्थानों पर लगे अवैध लाउडस्पीकर, ध्वनि विस्तारक यंत्र को हटाये जाने के विशेष अभियान के अनुपालन में प्रातः पांच बजे से सात बजे तक पूरे जनपद लाउडस्पीकर उतारने का अभियान चलाया गया। अभियान के क्रम में धार्मिक स्थलों एवं सार्वजनिक स्थानों पर कुल 283 लाउडस्पीकर, ध्वनि यंत्र प्रयोग में लाये जा रहे हैं। जिनमें से 140 लाउडस्पीकर, ध्वनि विस्तारक यंत्र मानक के विपरीत पाये गये। मानक के विपरीत पाये गये 140 लाउडस्पीकर में से 81 लाउडस्पीकर की आवाज कम कराकर मानकों के अनुसार कराया गया तथा 59 लाउडस्पीकर को धार्मिक एवं सार्वजनिक स्थानों से उतरवाया गया।

Tags: Mathura

About The Author

Latest News

कूड़े से पटी पोखरी संक्रामक बीमारियों को दे रही दावत कूड़े से पटी पोखरी संक्रामक बीमारियों को दे रही दावत
सुराई के ग्रामीणों ने पोखरी की सफाई कराने को लेकर किया प्रदर्शन
भारतीय जनता पार्टी ओबीसी मोर्चा के तत्वाधान में कश्यप महासम्मेलन
मैंगलौरा के वशिष्ठ इंटर कॉलेज में संपन्न हुआ वार्षिक उत्सव
सांसद ने किया निर्माणाधीन अमृत भारत रेलवे स्टेशन बनमनखी का निरीक्षण,अधिकारियों को दिया निर्देश
ग्रामीण छुट्टा जानवरों को लादकर ब्लाक मुख्यालय पहुंचे
भारत विकास परिषद के स्वास्थ शिविर में पहुंचे मेंदांता के चिकित्सक
जनपद 14 आयुर्वेद चिकित्सा अधिकारियों को एनआईसी में मिला नियुक्ति पत्र