(Executive)

मुख्यमंत्री के जनता दरबार में की गई थी

भोजपुर: कोरोना काल में बने क्वारंटाइन सेंटर पर लाखों की राशि की गड़बड़ी करने के मामले में शंभुगंज के तत्कालीन व बेगूसराय जिले के तेघरा के सीओ परमजीत सिरमौर को डीएम अंशुल कुमार ने निलंबित कर दिया है। शंभुगंज थाने में उन पर केस दर्ज होने के बाद डीएम ने इस मामले की जांच कराई। जांच के बाद उनके निलंबन की कार्रवाई की गई है। अब परमजीत सिरमौर निलंबन अवधि तक भागलपुर प्रमंडल में रहेंगे।

ज्ञात हो कि प्रवासी कामगारों के लिए शंभुगंज में द्वारिका अमृत अशर्फी उच्च विद्यालय, आरए इंटर महाविद्यालय , कुर्मा उच्च विद्यालय सहित दो दर्जन से अधिक स्थानों पर क्वारंटाइन सेंटर बनाए गए थे। उनमें कामगारों को 14 दिनों तक सरकार की ओर से रहने के अलावा नाश्ता , भोजन , वस्त्र सहित अन्य सुविधाओं की व्यवस्था की गई थी। सभी क्वारंटाइन सेंटर के प्रभारी परमजीत सिरमौर पर इन सेंटरों के लिए आवंटित लाखों रुपये की राशि का गबन कर लेने का आरोप है।

गड़बड़ी का मामला तब उजागर हुआ था जब रामचुआ गांव के आरटीआइ कार्यकर्ता राजकुमार सिंह ने सूचना के अधिकार के तहत सीओ से क्वारंटाइन सेंटर में राशन-पानी के खर्च के हिसाब की मांग की। पहले तो सीओ ने सूचना देने में आनाकानी की। बाद में जिला लोक शिकायत के निर्देश पर सूचना दी गई। उसमें फर्जी वाउचर पर लाखों की राशि निकासी का मामला सामने आया। जिन दुकानों के नाम के बिल जमा किए गए थे वे बाजार में कहीं धरातल पर नहीं पाए गए।

See also  जीप अध्यक्ष संघ के प्रदेश अध्यक्ष चयन किये जाने पर कृष्णा कुमारी यादव को लोगों ने  दिया वधाई