एक ही सिरिंज से 30 छात्रों को लगाई वैक्‍सीन (Vaccine) , छात्रा के पिता ने ऐसे पकड़ा मामला, लोग बोले चल क्या रहा है ये?

ज‍ितेंद्र राज नाम के थर्ड ईयर के छात्र ने बच्‍चों का टीकाकरण (vaccination) शुरू किया। उसने एक ही सिरिंज से करीब 30 बच्‍चों को वैक्‍सीन (Vaccine) लगा दी। मामले का खुलासा तब हुआ जब एक छात्रा के प‍िता द‍िनेश नामदेव की नजर इसपर पड़ी।

भोपाल। कोरोना से बचाव के लिए भारत में वैक्सीन (Vaccine) की 200 करोड़ डोज लगाई जा चुकी है। हालांकि इस बीच मध्य प्रदेश से चौंकाने वाली खबर सामने आई है। बता दें कि एमपी में सागर के जैन पब्‍ल‍िक स्‍कूल में कोरोना वैक्‍सीनेशन में गंभीर लापरवाही बरतते हुए एक ही स‍िर‍िंज से 30 बच्‍चों को टीका लगा दिया गया। मामले का खुलासा होते ही स्थानीय प्रशासन में हड़कंप मच गया।

एक छात्रा के पिता की पड़ी नजर तो  खुलासा हुआ।

दरअसल स्‍कूल में कोरोना वैक्‍सीनेशन का कैंप लगाया गया था। स्‍वास्‍थ्‍य व‍िभाग ने इसके लिए न‍िजी कॉलेज नर्स‍िंग कॉलेज एसवीएन में पढ़ाई कर रहे नर्स‍िंग छात्रों की ड्यूटी भी लगा दी थी। इस दौरान ज‍ितेंद्र राज नाम के थर्ड ईयर के छात्र ने बच्‍चों का टीकाकरण शुरू किया। उसने एक ही सिरिंज से करीब 30 बच्‍चों को वैक्‍सीन (Vaccine) लगा दी। मामले का खुलासा तब हुआ जब एक छात्रा के प‍िता द‍िनेश नामदेव की नजर इसपर पड़ी। इसके बाद स्‍कूल में हंगामा हो गया। बवाल बढ़ा तो छात्र जितेंद्र को मौके से हटा द‍िया गया।

दिनेश नामदेव ने क्या कहा?

द‍िनेश नामदेव के मुताबिक वैक्‍सीन (Vaccine) लगाने वाले से जब एक ही सिरिंज को लेकर सवाल किया तो उसने बताया कि एचओडी सर ने एक ही स‍िरिंज से सबको वैक्‍सीन (Vaccine) लगाने को कहा है। दिनेश ने कहा कि अगर इस लापरवाही के चलते बच्‍चों को कुछ होता है तो इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा, प्रशासन लेगा या सरकार लेगी? ऐसा तो अंग्रेजी शासनकाल में भी नहीं हुआ।

See also  ये मशीन सिर्फ चेहरा देखकर पकड़ेगी अपराधी

सोशल मीडिया पर क्या बोले लोग?

बता दें कि इस मामले में सीएमओ ने जांचके आदेश दिए हैं। वहीं सोशल मीडिया पर भी लोग इस मामले को लेकर अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। दिलीप वर्मा(@deepu0691) नाम के एक यूजर ने प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान से सवाल करते हुए लिखा, मामा चल क्या रहा है ये? कभी रोड उखड़ जाती है, स्कूल के क्लास रूम में पानी टपक रहा है और अब एक ही सिरिंज से 30 बच्चों की जान को खतरे में डाल दिया?

नीरज(@NeerajDeogade) ने इस मामले पर लिखा, एमपी अलग, सबसे गजब है, मामा जी मस्त है। वहीं जुबैर अख्तर ने लिखा, आम इंसान की जान आज दो कौड़ी की होकर रह गई। यह आज भारत का सबसे बड़ा सत्य है। अनिमेश(@ACinindia) ने तंज कसते हुए लिखा, सरकार खर्चा बचा रही है देश हित में और इनको नई नई सिरिंज चाहिए सबके लिए।