दो महिलाओं की सड़क दुर्घटना में मौत

चैनपुर, कैमूर। थाना क्षेत्र के ग्राम डोभरी के लगभग एक दर्जन मजदूर उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर में मजदूरी करने के लिए जा रहे थे। उक्त मजदूरों से भरी टेंपो को पीछे से डंपर ने जोरदार टक्कर मार दी। जिससे दो महिलाओं की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि सात लोग गंभीर रूप से घायल हो गए।

मृतकों में ग्राम डोभरी निवासी 45 वर्षीय लक्ष्मीना देवी पति पप्पू बिद एवं 65 वर्षीय सुगवंती देवी पति बजरंगी बिद का नाम शामिल हैं। वहीं घायलों में पार्वती देवी पति रामाधीन बिद, शकुंतला देवी पति बसावन बिद, विनीता कुमारी पिता बसावन बिद, विकास कुमार पिता छांगुर बिद, सुध्धु बिद पिता गोदा बिद, सीता कुमारी तथा राजवंता कुमारी पिता लालमोहन बिद सभी ग्राम डोभरी के निवासी बताए गए हैं।

इस संबंध में ग्राम डोभरी के निवासी रामनिवास बिद ने बताया कि गांव के लगभग एक दर्जन महिला व पुरुष मिर्जापुर में मजदूरी के लिए बुधवार को निकले थे। वाराणसी के टेंगरा मोड़ पर पहुंच कर एक टेंपो उनके द्वारा रिजर्व किया गया। जिस पर सवार होकर सभी मिर्जापुर जा रहे थे। इस दौरान शाम साढ़े चार बजे के करीब ग्राम कोलबंद एवं नारायणपुर चौकी के बीच पीछे से आ रही तेज रफ्तार की डंपर ने ऑटो में जोरदार टक्कर मार दी।

जिससे ऑटो दुर्घटनाग्रस्त हो गई एवं मौके पर ही सुगवंती देवी एवं लक्ष्मीना देवी की मौत हो गई। वहीं आधा दर्जन से अधिक घायल हो गए। घायलों में गांव के ही लालता और प्रभु बिद जो कि कुछ बेहतर स्थिति में थे, उनके द्वारा फोन के माध्यम से गांव पर सूचना दी गई। जिसके बाद गांव के लगभग 15 से 20 की संख्या में लोग घटना स्थल पर गए। जहां कागजी कार्रवाई पूर्ण करने के उपरांत गुरुवार की शाम पोस्टमार्टम करवा कर उत्तर प्रदेश की पुलिस के द्वारा शव परिजनों को सौंप दिया गया।

जिसके बाद परिजन वहां से शव को लेकर गांव पर शाम के करीब सात बजे पहुंचे। उनके गांव पहुंचते ही पूरे गांव में हाहाकार मच गया। हर तरफ बस इस दुर्घटना की ही चर्चा होती रही। खबर लिखे जाने तक परिजनों के द्वारा मृतकों के दाह संस्कार की तैयारी की जा रही थी।

See also  रौनियार वैश्य समाज द्वारा निशुल्क ईख और नारियल का वितरण