आजमाइए ये उपाय और डैंड्रफ को कहिए हमेशा के लिए बाय-बाय…

नई दिल्ली: सर्दी के मौसम में खासतौर से रूसी परेशान करती है, जिससे स्कैल्फ रूखा और खुजलीदार हो जाता है। खुश्क और ठंडी हवाएं इस फंगस को बढ़ावा देती हैं इसलिए इस मौसम में डैंड्रफ कुछ ज़्यादा परेशान करती है। तो आज हम बात कर रहे हैं कुछ ऐसी फूड्स की जो आपको रूसी से आराम दिलाने का काम कर सकते हैं।

सर्दी में डैंड्रफ से छुटाकारा पाने के लिए डाइट में शामिल करें ये 6 फूड्स

सूरजमुखी के बीज
डैंड्रफ से लड़ने के लिए सूरजमुखी के बीज एक नैचुरल ट्रीटमेंट का काम करते हैं। अगर आप अभी तक इन बीजों की इस खासियत से अनजान थे, तो इन्हें अपनी डाइट में शामिल कर देंखें। यह बीज कई तरह के पोषक तत्वों से भरे होते हैं, जो स्कैल्प की सेहत के लिए ज़रूरी होते हैं। साथ ही यह ज़िंक और विनाटमि-बी से भी भरपूर होते हैं, जो सीबन प्रोडक्शन को कंट्रोल करने का काम करते हैं। सूरजमुखी के बीज पाचन को बेहतर बनाने के साथ, मेटाबॉलिज़म को बढ़ावा देते हैं, जिससे डैंड्रफ कम होती है, तो अक्सर अपच के कारण होती है।

अदरक
अदरक का सेवन कई तरह के फायदे पहुंचाता है। जिनमें से एक स्कैल्प से डैंड्रफ हटाना भी है। कई लोगों में गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल दिक्कतों के कारण रूसी हो जाती है। अदरक पाचन को बेहतर बनाने का काम करता है, जिससे डैंड्रफ दूर हो जाती है। साथ ही इसके एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण भी रूसी से छुटकारा पाने में मदद करते हैं।

पपीता
पपीते में पपेन नाम का एक एंज़ाइम होता है, जो आपके स्कैल्प पर अतिरिक्त तेल और रसायनों के निर्माण को कम करने में मदद करता है, जो डैंड्रफ पैदा करने का काम करते हैं। अगर आप रूसी से परेशान हैं, तो अपनी डाइट में पपीते को ज़रूर शामिल करें।

लहसुन
लहसुन में एलीसिन नाम ता एंटीफंगल घटक होता है जो रूसी के इलाज में काम आता है। अगर आप रोज़ लहसुन खाएंगे, तो इससे आपको डैंड्रफ में काफी आराम मिलेगा। इसके अलावा आप लहसुन को स्कैल्प पर लगा भी सकते हैं। इसके लिए आपको सिर्फ तीन से चार लहसुन को क्रश करना और इसे स्कैल्प पर लगाना है। 15 मिनट बाद सिर धो लें।

See also  यहां पहली बार मासिक आने पर लड़की के घर वाले मनाते त्यौहार जनिये अखिर क्यों

चने
चने का सेवन भी डैंड्रफ में आराम दिला सकता है। चने में ज़िंक और विटामिन-बी6 होता है, दो ऐसे खनिज जो डैंड्रफ से लड़ने का काम करते हैं। चने को खाने के अलावा आप इसका पेस्ट बनाकर स्कैल्प पर लगा भी सकते हैं। चने के पेस्ट में दही और पानी मिलाकर गाढ़ा पेस्ट तैयार कर लें, फिर इसे स्कैल्प पर लगा लें। कुछ देर बाद धो लें।

अंडे
अंडे, ज़िंक और बायोटिन से भरे होते हैं। यह पोषक तत्व बालों की सेहत को स्पोर्ट करने के साथ स्कैल्प को भी हेल्दी रखते हैं। हमारी सिर से सीबम निकलता है, जो एक नैचुरल ऑयल है, जिसका उत्पादन हमारा शरीर स्कैल्प की सुरक्षा के लिए करता है।