सिवान । ‘अग्निपथ’ योजना के विरोध में हो रहे विभिन्न जिलों में प्रदर्शन के बाद ट्रेनों में हुई तोड़फोड़ व अगजनी के बाद रेलवे द्वारा प्रतिदिन डेढ़ दर्जन से अधिक ट्रेनों का परिचालन निरस्त किया जा रहा है। इस कारण यात्रियों को सबसे ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं इस विषम परिस्थिति में बस संचालकों की चांदी कट रही है। यात्रियों की मजबूरी का फायदा उठाकर बसं संचालकों ने अपनी मनमानी शुरू कर दी है। प्रदर्शन के बाद दो-तीनों दिनों से बसों में यात्रियों की संख्या में हुई बढ़ोतरी को देख बस मालिकों ने सिवान-दिल्ली का किराया बढ़ा दिया है। बसों में सिवान से दिल्ली तक स्लीपर प्रति व्यक्ति दो हजार एवं चेयर प्रति व्यक्ति 16 सौ रुपया लिया जा रहा है। वहीं सीट जैसे जैसे यात्रियों से भर रहा है उस हिसाब से किराया में भी बढ़ोतरी की जा रही है। मजबूर होकर यात्री अपने गंतव्य तक पहुंचने के लिए बसों में सवार हो रहे हैं।

शहर में चला वाहन जांच अभियान

बता दें कि जिले में आपराधिक घटनाओं पर रोक लगाने को लेकर एसपी के निर्देश पर शहर के विभिन्न जगहों पर वाहन चेकिग अभियान चलाया गया। इस दौरान दो पहिया वाहनों के चालकों को रोक कर उनकी सघन जांच की गई। चेकिग के दौरान गाड़ी के कागजात, हेलमेट, लाइसेंस, डिक्की को खोलकर उसकी जांच की गई। कई बाइक चालकों को बिना वाहन के कागजात व हेलमेट के पकड़ा गया। सभी से जुर्माना राशि लेकर व कड़ी चेतावनी देकर छोड़ा गया।