दरभंगा ।   एमबीबीएस छात्राओं के छात्रावास की छत का प्लास्टर गिर रहा है। प्लास्टर गिरने की सूचना पर शनिवार को कालेज के प्राचार्य ने छात्रावास का निरीक्षण किया। इस दौरान स्थिति देख वो अवाक रह गए। हालांकि शनिवार को प्लास्टर गिरने से किसी के जख्मी होने की सूचना नहीं मिली। बताया गया है कि 300 बेड वाला यह छात्रावास करीब 70 साल पुराना हो गया है।

निरीक्षण में प्राचार्य ने पाया कि कब यह भवन गिर जाए, कहना मुश्किल है। छात्राएं रात-दिन भयभीत रहती हैं। छात्रावास के अधिकांश कमरों के छत से प्लास्टर व कंक्रीट के टुकड़े जमीन पर गिरे पड़े थे। छात्रावास के इस भवन की दीवाल की ईंट भी कई जगहों पर निकली मिली। शौचालय से लेकर छत तक की हालत बेहद खराब मिली। जबकि छात्रावास के आंगन में पानी भरा था।

छात्राओं ने प्राचार्य को बताया- अभी बरसात का मौसम शेष है। बरसात में ग्राउंड फ्लोर पर जल जमाव हो जाता है। इसके बाद छात्राओं को इस ग्राउंड फ्लोर को खाली कराना पड़ता है। छात्राओं को पहले फ्लोर पर शिफ्ट कराया जाता है। बरामदे पर जल जमाव में छात्राएं ग्राउंड फ्लोर पर चौकी रखकर पहले फ्लोर पर पहुंचते हैं। इसके पहले मेडिकल छात्राओं ने एक सप्ताह में दो वार छत से गिर रहे प्लास्टर की शिकायत की है।