कभी भी गिर सकता है जर्जर भवन, बच्चो की जान जोखिम में

देवरिया। उत्तर प्रदेश सरकार जहाँ प्राइमरी व जूनियर हाई स्कूलों को मॉडल व हाईटेक बनाने में जुटी है वहीं आज भी तमाम ऐसे विद्यालय हैं जहाँ प्राथमिक शिक्षा तो दूर की बात है विद्यालय में बच्चों के बैठने की समुचित व्यवस्था तक नहीं। एक ऐसा ही स्कूल है  देवरिया के विकास खंड रुद्रपुर के ग्राम सभा तारा सारा प्रथम का। जहा पर जिस कमरे में बच्चों को शिक्षा दी जा रही है,उसी कमरे में कूड़ेदान के साथ साथ कबाड़ भी रखा गया है और राशन के बोरे भी रखे हैं। विद्यालय की जर्जरता को देख ऐसा लगता है कभी भी छत व दीवार गिर सकती है। विद्यालय में तैनात सहायक अध्यापक अमित गुप्ता की ये स्थिति है कि उनके स्कूल में कितने बच्चे उपस्थित हैं ये उन्हें भी नहीं पता। स्कूल परिसर के अंदर बच्चे जहा पढ़ रहे हैं यहां पर शराब की बोतल पड़ी है। आखिर इस माहौल में बच्चे कैसे पढ़ेंगे?आखिर इसका जिम्मेदार कौन है?
इस संबंध में जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है। सम्बंधित खंड शिक्षा अधिकारी को जांच कर आख्या मांगी गई है। रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।
https://youtu.be/ZEAYAhrwuA4
See also  सड़क बनी तालाब, जल जमाव से संक्रमित बीमारियां फैलने का बना भय