teachers

Teachers को भी बनना होगा फस्ट

खगरिया: निजी स्कूलों की तर्ज पर अब सरकारी स्कूलों में चाइल्ड फस्ट के साथ ही शिक्षकों teachers को भी फस्ट बनना होगा। हाल ही में शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी की अध्यक्षता में संपन्न बैठक में यह निर्णय लिया गया है, कि सभी पदाधिकारियों की टीम रूचि लेकर कार्य करेंगे और विभाग की छवि को सुधारने के लिए स्कूलों में बच्चे फस्ट के साथ ही शिक्षकों teachers को भी फस्ट बनाना होगा। समीक्षात्मक बैठक दशरथ मांझी श्रम एवं नियोजन सभागार में आयोजित की गई। जिसमें विभाग के सभी अधिकारी मौजूद थे।

इस बाबत सूबे के सभी जिला शिक्षा पदाधिकारियों को स्कूलों में शिक्षा व्यवस्था को व्यापक पैमाने पर सुधारने और विभाग की छवि बचाने को लेकर आदेश दिया गया है। जिला शिक्षा पदाधिकारियों द्वारा सरकार के इस महत्वपूर्ण आदेश को निचले स्तर के अधिकारियों तक पहुंचा कर इसपर अविलंब अमल करने को कहा गया है।जिले में पदस्थापित विभाग के सभी अधिकारी एक टीम के रूप में काम करेंगे। विभाग की छवि सुधारने को लेकर हर हाल में संकल्प लेना है।

स्कूलों में चाइल्ड फस्ट के साथ ही शिक्षकों teachers को भी फस्ट बनना होगा। सरकार का प्रयास न केवल बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दिलाना है, बल्कि बच्चों को शिक्षा प्रदान करने वाले शिक्षकों teachers को भी अपने दिन प्रतिदिन की सेवा संबंधी कार्यों में किसी प्रकार की लापरवाही न हो, इसे गंभीरता से लागू करना है।

आदेश दिया गया है कि शिक्षकों teachers एवं कर्मियों की सेवा संबंधी मामले के निराकरण के लिए स्थापना कार्यालय में प्रत्येक महीने के तीसरे शनिवार को एक बजे शिविर आयोजित की जाए। शिविर में जिला शिक्षा पदाधिकारी एवं डीपीओ की मौजूदगी अनिवार्य बनाया गया है। शिविर में दी गई शिकायत को पंजीबद्ध किया जाएगा। सभी डीपीओ इसके निष्पादन की प्रक्रिया अपनाएंगे।

See also  प्रतिष्ठा को ले आयोजित सहस्त्र चंडी महायज्ञ कल से