जमुई: कड़ाके की ठंड के बाद अब गर्मी भी लोगों को परेशान करेगी। मौसम वैज्ञानिकों की मानें तो इस बार मार्च महीने के तीसरे हफ्ते से ही लोगों के पसीने छूटने लगेंगे।प्रदेश का मौसम काफी तेजी से करवट बदल रहा है। वातावरण में धीरे-धीरे गर्मी बढ़ने लगी है। सूरज का तेवर दिन-ब-दिन तल्ख होते जा रहे हैं। पिछले 24 घंटों में राज्य के अधिकांश शहरों के अधिकतम तापमान में डेढ़ से दो डिग्री तक की वृद्धि दर्ज की गई। राज्य में सबसे अधिक गर्म स्थान बांका रहा, जहां अधिकतम तापमान 32.6 डिग्री पहुंच गया। सबसे कम तापमान नवादा में रिकार्ड किया गया, वहां पर न्यूनतम तापमान 12 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। प्रदेश का औसत अधिकतम तापमान 29 से 31 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया।

मौसम विज्ञानी संजय कुमार का का कहना है कि मार्च के तीसरे हफ्ते में पारा 35 के आसपास तक पहुंच जाएगा। अगले एक हफ्ते तक मौसम पूर्वानुमान में बताया गया कि सूबे में शुष्क मौसम बना रहेगा। प्रदेश में पछुआ का प्रवाह जारी है। उसकी गति कभी कम तो कभी ज्यादा रहेगी।

राजधानी में चलने लगे पंखे

राजधानी में भी शनिवार को अधिकतम तापमान एक डिग्री ऊपर चढ़कर 30.6 डिग्री पर पहुंच गया। पटना में न्यूनतम तापमान 16डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। गया में अधिकतम तापमान 29.9, भागलपुर में 32.2 और पूर्णिया में 30.5 डिग्री दर्ज किया गया। शनिवार की सुबह नौ बजे से ही धूप में गर्मी आ गई थी। राजधानी सहित पूरे सूबे में गर्मी बढ़ने की वजह से अब घरों में पंखे घनघनाने लगे हैं।

See also  प्रत्युषा शक्तियों की होती संयुक्त आराधना