(person)
(person)

सूर्य पर्वत व्यक्ति (person) के जीवन को करता है प्रभावित

सूर्य पर्वत का हस्तरेखा में बहुत महत्व बताया गया है। सूर्य पर्वत व्यक्ति (person) के जीवन को करती है प्रभावित करती है। तो आइए जानते हैं सूर्य पर्वत का उठा होना और दबा होने व्यक्ति के जीवन को किस तरह से प्रभावित करता है। क्या है सूर्य पर्वत का महत्व।

सूर्य पर्वत हथेली में अनामिका अंगुली के नीचे होता है। हस्तरेखा विज्ञान में इस स्थान को सूर्य का स्थान कहा गया है। जैसे ज्योतिष शास्त्र में सूर्य को मान सम्मान पद, प्रतिष्ठा और सरकारी नौकरी का कारक बताया गया है। वैसे ही हस्तरेखा शास्त्र सूर्य पर्वत को यश सम्मान, कीर्ति और सरकारी नौकरी से जोड़कर देखा जा सकता है। अगर किसी की हथेली में सूर्य पर्वत मजबूत स्थिति में है तो व्यक्ति को ये सफलता का सूचक होता है। आइए जानते हैं सूर्य पर्वत का उठा होने का क्या मतलब होता है।

सूर्य पर्वत का उठा होना और दबा होने का मतलब
1. हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार, हथेली में सूर्य पर्वत का विकसित होने बहुत ही जरूरी है। अगर किसी के हाथ में सूर्य पर्वत विकसित नहीं है तो व्यक्ति का जीवन बिना यश और कीर्ती के साधारण सा होता है। इस तरह के लोगों को ज्यादा जान पहचान नहीं मिल पाती है।

2. अगर किसी व्यक्ति के हाथ में सूर्य पर्वत विकसित और गुलाबी रंग का हो जो ऐसा व्यक्ति को खूब सम्मान मिलता है। इस तरह के लोग कुशल संगीतज्ञ , कलाकार , चित्रकार होते देखे गए है ।

3. जिन लोगों का सूर्य पर्वत विकसित होता है ऐसे लोग इंसान की गहराई को पल में ही भाप लेते हैं। इस तरह के जातक का जन्म अगर अनपढ़ और किसी गरीब घर में हुआ हो तो भी वह धन प्राप्त करने में कामयाब रहते हैं। ऐसे लोगों का जीवन काफी शान ओ शौकत वाला रहता है।

See also  घर में धन-संपत्ति के लिए फॉलो करें ये वास्तु टिप्य तो बन सकती है बात

4. विकसित सूर्य पर्वत वाले व्यक्ति साफ दिल के होते हैं साथ ही ईमानदार भी। ऐसे लोग बहुत ही सुलझे हुए होते हैं। साथ ही यह लोग सच बोलना पसंद करते हैं। ऐसे लोग दूसरों की गलती उनके मुंह पर बोलने का साहस रखते हैं।

5. वहीं, कई लोगों के हाथ में सूर्य पर्वत काफी ज्यादा विकसित होते हैं। ऐसा लोगों में अंहाकर ज्यादा होता है। ऐसे लोगों को बात बात पर क्रोध आ जाता है। साथ ही ऐसे लोग फिजूलखर्ची करने वाले होते हैं। ऐसे लोगों के दोस्त भी कम ही होते हैं। ऐसे लोगों को आसानी से सफलता नहीं मिलती है।

6. वहीं, अगर किसी व्यक्ति के हाथ में सूर्य पर्वत शनि पर्वत की तरफ झुका हुआ हो तो ऐसे व्यक्ति को अकेला रहने ज्यादा पसंद होता है। साथ ही इन लोगों को सफलता नहीं मिलने पर जल्दी निराशा होने लगती है। ऐसे लोग किसी भी काम को जितने उत्साह के साथ शुरू करते हैं उतने ही उत्साह का साथ उसे खत्म नहीं कर पाते हैं।

7. अगर किसी व्यक्ति की सूर्य पर्वत वाली उंगली बेडौल हो तो ऐसा व्यक्ति ईर्ष्या वादी होता है। ऐसे लोगों का समाज में कोई खास व्यवहार नहीं रखते हैं। ऐसे लोगों में बदले की भावना प्रबल काफी होती है।