कलेक्ट्रेट सभागार में आगामी नवरात्रि और दशहरा आदि त्योहारों की तैयारियो की समीक्षा

आजमगढ़- जिलाधिकारी विशाल भारद्वाज की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में आगामी नवरात्रि, दुर्गा पूजा (दशहरा) आदि त्योहारों के दृष्टिगत की जा रही तैयारियों की समीक्षा की गयी। जिलाधिकारी ने समस्त एसडीएम एवं सीओ को निर्देश दिये कि अपने-अपने क्षेत्र में पीस कमेटी की बैठक सुनिश्चित करें। उन्होने निर्देश दिया कि त्योहार हर-हाल में शान्तिपूर्ण, सौहार्द के साथ एवं परम्परागत तरीके से सम्पन्न कराना सुनिश्चित करायें। उन्होने कहा कि त्योहार में किसी भी प्रकार की नयी परम्परा की शुरूआत नही की जायेगी। उन्होने कहा कि दुर्गा पूजा के आयोजकों के साथ बैठक कर यह सुनिश्चित करें कि त्योहार में किसी भी प्रकार की समस्या उत्पन्न नही होगी। उन्होने कहा कि लेखपाल, ग्राम प्रधान, सचिव के साथ बैठक कर पंडालों एवं रामलीला ग्राउण्ड पर कर्मचारियों की ड्यूटी लगाकर उनके नाम, मोबाइल नम्बर आपस में शेयर कर लें।
जिलाधिकारी ने सभी अधिशासी अधिकारियों एवं जिला पंचायत राज अधिकारी को निर्देश दिया कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में आयोजन स्थलों की सफाई व्यवस्था सुनिश्चित करायें। उन्होने कहा कि रास्तों एवं विसर्जन स्थलों के घाटों के ढ़लान को उचित तरीके से बनाना सुनिश्चित करें। उन्होने कहा कि विसर्जन स्थल पर पर्याप्त नाव, गोताखोर की तैनाती सुनिश्चित किया जाये। उन्होने कहा कि घाटों पर पब्लिक एड्रेस सिस्टम को संचालित करायें तथा लोगों को जागरूक एवं आवश्यक दिशा निर्देश जारी करते रहें। उन्होने कहा कि महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा का विशेष ध्यान रखा जाए, किसी भी प्रकार की अप्रिय घटना नही होनी चाहिए।
जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि सभी अधिकारी लगातार भ्रमण करते रहें। उन्होने कहा कि स्पष्ट रूप से सभी आयोजकों को बता दिया जाये कि लाउडस्पीकर को निर्धारित मानक के अनुसार ही बजाया जाये। उन्होने विद्युत विभाग को निर्देश दिया कि मूर्ति विसर्जन के दिन जेई, एई सभी रास्तों को चेक कर लें, लटकते हुए तारों को सही करा दिया जाये। उन्होने कहा कि आवश्यकता के अनुसार कुछ समय के लिए विद्युत विच्छेदन भी कर दिया जाये, ताकि कोई अप्रिय घटना न घटित हो।
जिलाधिकारी ने पुलिस एवं आबकारी विभाग को निर्देश दिया कि विशेष क्षेत्रों में आबकारी की दुकानों की चेकिंग सुनिश्चित करायें। उन्होने कहा कि किसी भी कीमत पर अवैध शराब की बिक्री नही होनी चाहिए। उन्होने कहा कि पंडालों के आस-पास की दुकानों की विशेष चेकिंग सुनिश्चित करायें। जिलाधिकारी ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि त्योहार के सीजन को देखते हुए शहरी क्षेत्रों एवं छोटे कस्बों में मिठाई की दुकानों की जांच करें। उन्होने कहा कि अधिक से अधिक खाद्य पदार्थों की सैम्पलिंग कराना सुनिश्चित करें।
इसी के साथ ही जिलाधिकारी ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिया कि कोई भी बिना अनुमति के अवकाश पर नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि विशेष परिस्थितियों को छोड़कर सभी अधिकारियों/कर्मचारियों के अवकाश तत्काल प्रभाव से निरस्त किए गए हैं।
पुलिस अधीक्षक अनुराग आर्य ने कहा कि नवरात्रि, दशहरा एवं दुर्गा पूजा को देखते हुए पिछले 10 साल एवं पिछले 1 साल के अंदर हुए विवादों की सूची सभी एसडीएम, सीओ एवं एसओ को शेयर कर दी गई है। उन्होने कहा कि सभी अधिकारी आपस में बैठक कर आवश्यकतानुसार तैयारी सुनिश्चित कर लें। उन्होंने कहा कि सभी लोगों को 107/16 में पाबंद करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि किसी भी दुर्गा पूजा पंडाल में किसी भी कीमत पर अश्लील डांस नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि इसके संबंध में सभी आयोजकों को स्पष्ट निर्देश दे दिया जाए। उन्होंने कहा कि सीओ/एसओ रात में पंडाल का एक बार निरीक्षण अवश्य करें तथा जहां आवश्यक हो, वहां स्थाई ड्यूटी लगाई जाए। श्री आर्य ने कहा कि रेलवे ट्रैक के आसपास होने वाले रावण दहन पर विशेष नजर रखें। उन्होंने कहा कि नजदीकी रेलवे स्टेशन मास्टर को भी पहले से सतर्क कर दें, जिससे कि वह गाड़ियों की स्पीड को कम करा दें।
अपर जिलाधिकारी प्रशासन श्री अनिल कुमार मिश्रा ने त्यौहारों के लिए जारी की गई विभागवार एडवाइजरी को पढ़कर सभी को अवगत कराया।
बैठक में अपर जिलाधिकारी वि0/रा0 आजाद भगत सिंह, डिप्टी एसपी, सीओ, समस्त एसडीएम, विद्युत विभाग, डीपीआरओ, पीडब्ल्यूडी, जिला विकास अधिकारी एवं अन्य सभी संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे।

See also  मुजफ्फरनगर दंगा मामले में आया कोर्ट का फैसला, 7 दोषियों को सुनाई उम्रकैद की सजा